सब इंस्पेक्टर भर्ती मामला- गृह सचिव डीजीपी व आयोग सचिव को नोटिस जारी,जबाव तलब

Dr. CHETAN THATHERA
3 Min Read

जयपुर। राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित की गई सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा 2021 पेपर लीक के कारण खूब चर्चित हुई और इस मामले में 25 आरोपी है जिनमें से 17 सब इंस्पेक्टर के पद पर चयन होकर प्रशिक्षण ले रहे हैं इस मामले में आज हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए राजस्थान के गृह सचिव , डीजीपी और राजस्थान लोक सेवा आयोग के सचिव को नोटिस जारी करते हुए जवाब तलब किया है ।

इस मामले में राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप एसओजी ने कार्रवाई की थी और अपनी कार्रवाई को पूरी करते हुए 2 मई को एसओजी ने हाई कोर्ट में 2369 पेज की चार सीट पेश की टीम 50000 पन्नों का पुलिंदा लेकर कोर्ट पहुंची थी जिसमें सभी 25 आरोपियों का विस्तृत लेखा जोखा था इन 25 आरोपियों में 17 आरोपी तो चयनित होकर सब इंस्पेक्टर है और उनमें से 15 राजस्थान पुलिस अकादमी में प्रशिक्षण ले रहे थे ।

इसमें इस पूरे खेल का खिलाड़ी जगदीश बिश्नोई समेत 8 जाने शामिल है चार सीट में इन आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 419 420 467 468 471 408 409 477 477ए 201 ए और 120 बी के तहत मामला दर्ज किया गया था और आरोपी के न्यायिक हिरासत पूरी होने से 48 घंटे पहले एसओजी ने यह चार सीट न्यायालय में पेश कर दी।

एसओजी द्वारा न्यायालय में पेश की गई चार्ज शीट में राजेश खंडेलवाल विवेक भांभू नरेश कुमार एकता प्रेम सुखी मनोहर लाल गोदारा श्रवण कुमार गोपी राम भगवती बिश्नोई रोहिताश कुमार राजेश्वरी नंगी कुमारी चंचल कुमारी करणपाल गोदारा शिवरतन मोट राजेंद्र यादव उर्फ राजू हर्षवर्धन मीना इंदुबाला जगदीश बिश्नोई जगदीश सियाग अशोक सिंह भूपेंद्र सारण और अनिल कुमार मीणा है तथा इस मामले में फरार चल रहे ।

S.C.G.C.I SCHOOL TONK
ADVERTISEMENT

आरोपी की गिरफ्तारी के लिए ₹25000 से लेकर ₹100000 तक का इनाम एसओजी द्वारा घोषित किया गया है जिसमें फरार चल रहे यूनिक उर्फ पंकज भांभू पर ₹100000 ओम प्रकाश ढाका पर 75000 तथा पोरव कालेर हनुमान मीणा शैतान राम विश्नोई सम्मीउर्फ छम्मी विश्नोई विनोद कुमार रिंकू और भंवरलाल पर ₹50000 का इनाम घोषित किया गया है तथा दीपक राहड सुनील बेनीवाल और वर्षा बिश्नोई पर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है ।

Advertisement

हाई कोर्ट ने गृह सचिव डीजीपी और राजस्थान लोकसभा आयोग के सचिव को जारी किए गए नोटिस के जरिए पूछा है कि फर्जी वाले से नौकरी आशिक करने वालों को हटाकर योग्य उम्मीदवारों का चयन क्यों नहीं किया जा रहा है और इसी पर हाई कोर्ट ने उनसे जवाब मांगा है।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम