प्रदेश भाजपा संगठन और केंद्रीय संगठन के बीच किसी भी तरह का विवाद नहीं है-कटारिया

जयपुर।प्रदेश में किसानों की आत्महत्या के मामले पर गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा है कि वर्ष 2015 में राज्य में तीन किसानों ने आत्महत्या की है। फिलहाल पुलिस कारणों की जांच कर रही है। कटारिया ने बुधवार को भाजपा मुख्यालय में प्रेसवार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने माना कि कांग्रेस के पिछले राज में एक भी किसान की आत्महत्या का मामला नहीं आया था। राज्य सरकार ने पचास हजार तक का कर्जा माफ करने का महत्वपूर्ण फैसला लिया और इससे अ_ाइस लाख किसान लाभांवित हो रहे हैं। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि सरकार किसानों के प्रति पूरी तरह संवेदनशील है।

नीति आयोग की रिपोर्ट के सवाल पर कटारिया ने बताया कि प्रदेश में अभी स्वास्थ्य और शिक्षा की स्थिति ठीक नहीं है, लेकिन कानून व्यवस्था के मामले में लगातार हालत सुधर रही है। भाजपा में प्रदेशाध्यक्ष को लेकर चल रही खींचतान पर उन्होंने बताया कि पार्टी जिसे भी योग्य समझेगी उसे प्रदेशाध्यक्ष बनाएगी, इसे लेकर प्रदेश भाजपा संगठन और केंद्रीय संगठन के बीच किसी भी तरह का विवाद नहीं है। कटारिया ने स्वयं को प्रदेशाध्यक्ष पद की दौड से बाहर बताया और कहा कि वे इस दौड में शामिल नहीं है किन्तु पार्टी अगर आदेश देती है तो वे यह जिम्मेदारी उठाने के लिए मना नहीं करेंगे।