अब सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के मोबाइल ले जाने पर रोक, केवल प्रिंसिपल को होगी अनुमति– दिलावर

Dr. CHETAN THATHERA
4 Min Read

जयपुर। राजस्थान में अब सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के मोबाइल ले जाने पर रोक रहेगी तथा स्कूल में ड्यूटी पर आने से पहले शिक्षक को अगर मोबाइल उसके पास है तो प्रिंसिपल को जमा करना होगा केवल प्रिंसिपल को ही मोबाइल की अनुमति होगी तथा शिक्षकों को स्कूल आने से पहले अपने विषय को पढ़कर आना होगा ।

शिक्षा मंत्री मदन दिव्या भारती राजस्थान में सरकारी स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए दिए जा रहे अलग-अलग निर्णय के तहत अब इसी कड़ी में एक और पहल कर कदम बढ़ाते हुए शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के मोबाइल लाने पर रोक लगाने का निर्णय लिया है ।

दिलावर ने आज जयपुर में पत्रकारों से रूबरू हो तो वह कहां की अक्सर देखने को और सुनने को मिल रहा है तथा शिकायतें मिलती है कि विद्यालय में शिक्षक ड्यूटी के दौरान अपने मोबाइल पर या तो गेम खेलते रहेंगे या शेयर मार्केट के लिए उसे देखते रहेंगे ऐसी स्थिति में विद्यार्थियों के पढ़ाई पर पूरी तरह से मन लगाकर ध्यान नहीं दे पाते हैं इससे विद्यार्थियों में शिक्षा की गुणवत्ता नहीं आ पा रही है इसी को ध्यान में रखते हुए।

उन्होंने कहा कि अब सरकारी विद्यालयों में शिक्षकों के मोबाइल लाने पर रोक रहेगी और अगर गलती से मोबाइल कोई शिक्षक लेकर भी आता है तो उसे प्रिंसिपल के पास जमा करना होगा केवल प्रिंसिपल कोई मोबाइल लाने की अनुमति होगी और उनका मोबाइल चालू रहेगा तथा आपातकाल की स्थिति में प्रिंसिपल के पास फोन आएगा अर्थात शिक्षकों को अब अपने परिजनों को प्रिंसिपल के नंबर देने होंगे और आपातकाल की स्थिति में प्रिंसिपल के पास उनका फोन आएगा और प्रिंसिपल शिक्षक को सूचना देगा और अगर बात करनी है तो फोन से बात कर सकता है ।

Advertisement

उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि अब शिक्षकों को किसी भी हाल में स्कूल में ड्यूटी के दौरान मोबाइल लाने की अनुमति नहीं होगी उन्होंने कहा कि वह कोई बड़ा फैसला नहीं ले रहे हैं यह पहले से ही नियम बना हुआ है इसकी पालन करने का प्रयास कर रहे हैं देवों की पलक का का स्कूलों में वातावरण सही करने का प्रयास किया जा रहा है।

S.C.G.C.I SCHOOL TONK
ADVERTISEMENT

दिलावर ने एक बार फिर यह बात दोहराई कि अब शिक्षकों को भेरुजी बालाजी की पूजा हो नमाज पढ़ने के नाम पर स्कूल नहीं छोड़ने की अनुमति दी जाएगी अगर उन्हें भेरुजी के बालाजी की पूजा करनी है नमाज पढ़नी है तो छुट्टी लेकर जाए और बाकायदा इसके लिखित में रजिस्टर में एंट्री करके जाएं ।

उन्होंने कहा कि अभी तो मौखिक रूप से अथवा नोटिस देकर छोड़ा जा रहा है शिक्षकों ने सुधार नहीं किया तो सस्पेंड से लेकर बर्खास्त तक की कार्रवाई उनके खिलाफ की जाएगी।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम