भारत में भिखारी भरत रोजाना कमाता 60 हजार रुपए, संपत्ति 7.5 करोड़

Dr. CHETAN THATHERA
3 Min Read

मुंबई/ भिखारी का नाम आते ही जेहन में चित्रण होता है कि फटे मेले कपड़े पहना हुआ होगा तथा दिन हीन हालत होगी रहने का ठिकाना नहीं होगा झोपड़पट्टी होगी ऐसे कई चित्रण सामने आ जाते हैं और इसी स्थिति देखकर प्राय आप और हम मांगने वाले भिखारी को दान कर देते हैं अर्थात भी दे देते हैं लेकिन आप इस खबर को पढ़कर चौक जाएंगे एक विकारी ऐसा है मुंबई में जो दुनिया का करोड़पति हैं और रोजाना ₹60000 कमाता है ।

जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते और जिसकी संपत्ति 7.50 करोड़ से अधिक है । इसलिए आप इस खबर को पढ़ने के बाद मंथन करें कि भिखारी को भीख देनी चाहिए या नहीं भेज देते समय सोच समझकर विचार करके भिक्षा दे ।

दुनिया के सबसे अमीर भिखारी का नाम भरत जैन है। भरत जैन मुंबई की कई सड़कों पर भीख मांगता है। जानकारी के अनुसार गरीबी के कारण उसकी पढ़ाई नहीं हो सकी, इसके बाद वह मुंबई में भीख मांगने लगा। दुनिया के सबसे अमीर भिखारी भरत जैन शादीशुदा है और उनके परिवार में पत्नी, दो बच्चे, एक भाई और उनके पिता हैं। दोनों बच्ची की पढ़ाई पूरी हो चुकी है।

जानिए कितनी संपत्ति का मालिक भिखारी

भरत जैन मुंबई में रहता है और उनकी कुल संपत्ति 7.5 करोड़ रुपये (1 मिलियन डॉलर) बताई जाती है। वह भीख मांगकर प्रति माह 60,000-75,000 रुपये कमाता है और उसके पास मुंबई में 1.2 करोड़ रुपये की कीमत वाला दो बेडरूम का फ्लैट है। इतना ही नहीं, मुंबई से सटे ठाणे में दो दुकानें हैं जिनसे 30,000 रुपए की कमाई होती है। भरत जैन छत्रपति शिवाजी टर्मिनस और आजाद मैदान इलाके में भीख मांगता है।

एक तरफ जहां मुंबई में लोग 12-14 घंटे काम करते हैं, इसके बाद उन्हें महीने के 8-10 हजार मिलते हैं तो वहीं भरत जैन अपने स्वभाव के कारण इतनी ही देर में दो-ढ़ाई हजार रुपये कमा लेता है। भरत जैन का परिवार आज सम्पन्न है लेकिन इसके बावजूद वो भीख मांगता है।

घय वाले रोकते की अब भीख मत मांगो लेकिन

कहा जाता है कि परिजन अब उसे भीख मांगने से रोकते हैं लेकिन वह नहीं मानता है। इतना ही नहीं, भरत जैन की कहानी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई। इसके बाद भी लोग उसे नहीं पहचान पाते। यही कारण है कि उसकी हालत और स्वभाव देखकर लोग उसे आज भी भीख देते हैं।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम