इन्फोर्मेशन कियोस्क मशीन का जिला एवं सेशन न्यायाधीश टोंक शुभा मेहता ने किया उदघाटन

टोंक(रोशन शर्मा)।  ई-कमेटी, सर्वोच्च न्यायालय व राजस्थान उच्च न्यायालय के निर्देशानुसार जिला न्यायालय कैम्प्स टोंक में पक्षकारों एवं अधिवक्तागण की सुविधा हेतु इन्फोर्मेशन कियोस्क मशीन का बुधवार को जिला एवं सेशन न्यायाधीश, टोंक  शुभा मेहता ने उदघाटन किया।नोडल ऑफि सर  सावित्री सिंह ने बताया कि कियोस्क मशीन पर अंगुली दबाते ही टोंक मुख्यालय के सभी न्यायालयों से सम्बन्धित प्रकरणों का केस स्टेटस प्राप्त हो सकेगा साथ ही जिला कारागृह एवं जिला न्यायालय के मध्य वीडियो कॉन्फे्र सिंग सुविधा का भी शुभारम्भ किया गया। जिला स्तरीय कम्प्यूटर कमेटी के चेयरमेन रमाकान्त शर्मा ने बताया कि इस सुविधा के प्रारम्भ होने से जेल में बन्द बन्दियों को प्रत्येक तारीख पेशी पर न्यायालय में लाने की आवश्यकता नहीं रहेगी उनकी पेशी वीडियो कॉन्फे्र सिंग के जरिये ही की जा सकेगी जिससे न केवल पुलिस जाप्ते की बचत होगी बल्कि आवागमन में लगने वाले समय एवं व्यय की भी बचत होगी।   जिस दौरान विशिष्ठ न्यायाधीश माधवी दिनकर, भंवर भदाला, अपर जिला न्यायाधीश रमाकान्त शर्मा, मुख्य न्यायिक मजिस्टे्रट  पकंज बंसल अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्रीमती सावित्री सिंह, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव उमेश वीर, जिला अभिभाषक संघ के अध्यक्ष देवकरण गुर्जर, सचिव  अवधेश कुमार जैन, अधिवक्तागण, पक्षकारान एवं न्यायालय कर्मचारीगण उपस्थित थे।सिस्टम ऑफि सर, जिला एवं सेशन न्यायालय,  सत्येन्द्र सिंह चन्द्रावत ने कियोस्क एवं वीडियो कॉन्फे्र सिंग की तकनीकी जानकारी दी। उन्होनें बताया कि टोंक मुख्यालय स्थित न्यायालयों के बाहर डिस्पिले बोर्ड स्क्रीन की सुविधा भी चालू कर दी गई है जिसमें न्यायालय कक्ष में चल रहे प्रति दिन के प्रकरणों की स्थिति की जानकारी सुचिब़द्ध स्क्रीन पर प्रदर्शित होगी।