Congress Chintan Shivir - Sonia Gandhi gave advice to top leaders, we need reform and change
जयपुर राजस्थान

कांग्रेस में ‘एक व्यक्ति एक पद’ का सिद्धांत फॉर्मूला, एक दर्जन नेताओं को देना पड़ेगा इस्तीफा

जयपुर। कांग्रेस में राष्ट्रीय अध्यक्ष पद को लेकर शुरू हुए काउंटडाउन के के बीच कांग्रेस में “एक व्यक्ति एक पद” का फार्मूला सख्ती से लागू होने की मांग ने जोर पकड़ा हुआ है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से एक व्यक्ति एक पद का सिद्धांत लागू होने के बाद जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को भी अब मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ेगा तो वहीं इसका असर राजस्थान कांग्रेस की सियासत पर भी देखने को मिलेगा, जहां एक व्यक्ति एक पद सिद्धांत फॉर्मूले के तहत गहलोत पायलट समर्थित नेताओं को भी एक पद से इस्तीफा देना होगा। इसे लेकर कांग्रेस में कवायद शुरू हो चुकी है। राजस्थान कांग्रेस में करीब एक दर्जन नेता ऐसे हैं जो सत्ता और संगठन में 2 पदों पर है।

इनमें दो नेता तो ऐसे हैं जो गहलोत सरकार में कैबिनेट मंत्री भी हैं और राजस्थान कांग्रेस में प्रदेश उपाध्यक्ष भी हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से भी मुख्यमंत्री पद छोड़ने के संकेत के बाद अब इन नेताओं पर भी एक पद छोड़ने का दबाव बढ़ गया है। ऐसे में माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में यह नेता भी एक पद से इस्तीफा दे सकते हैं।

कांग्रेस में लंबे समय से चली आ रही है एक व्यक्ति एक पद सिद्धांत की मांग

दरअसल कांग्रेस में लंबे समय से “एक व्यक्ति और एक पद” का फार्मूला लागू करने की मांग चली आ रही थी लेकिन यह फॉर्मूला लागू नहीं हो पा रहा था, जिसके बाद इसी साल मई माह में उदयपुर में हुए कांग्रेस के नव संकल्प शिविर में एक व्यक्ति एक पद का सिद्धांत लागू करने का फैसला लिया गया था। उसी के तहत कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी एक व्यक्तित्व का सिद्धांत को सख्ती के साथ लागू करने के निर्देश पार्टी पदाधिकारियों को दिए थे।

हाल ही में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने साफ कर दिया था कि पार्टी में एक व्यक्ति और एक पद सिद्धांत की पालना होनी चाहिए। राहुल गांधी के इस बयान के बाद ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भी सुर बदल गए थे। इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लगातार कह रहे थे कि वो राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ-साथ मुख्यमंत्री भी रहेंगे और अब अशोक गहलोत ने साफ कर दिया है कि वो मुख्यमंत्री का पद छोड़कर और नेताओं को भी नसीहत देंगे।

गहलोत के 7 और सचिन पायलट के 3 नेता 2 पदों पर

राजस्थान कांग्रेस में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी माने जाने वाले 7 नेता सत्ता और संगठन में 2 पदों पर हैं तो वहीं पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के समर्थक माने जाने वाले तीन नेता सत्ता और संगठन में 2 पदों पर हैं

गहलोत समर्थक ये नेता हैं दो पदों पर हैं

  • -गोविंद राम मेघवाल——– कैबिनेट मंत्री—– उपाध्यक्ष प्रदेश कांग्रेस
  • -रामलाल जाट————– कैबिनेट मंत्री—— उपाध्यक्ष प्रदेश कांग्रेस
  • रेहाना रियाज——— चेयरमैन महिला आयोग——अध्यक्ष महिला कांग्रेस
  • -डॉ जितेंद्र सिंह——-सीएम सलाहकार———– उपाध्यक्ष प्रदेश कांग्रेस
  • -सचिन सरवटे——- उपाध्यक्ष एससी आयोग———- सचिव प्रदेश कांग्रेस
  • – लाखन मीणा——- अध्यक्ष डांग विकास बोर्ड———– महासचिव प्रदेश कांग्रेस
  • -हाकम अली——–अध्यक्ष वक्फ विकास परिषद——— महासचिव प्रदेश कांग्रेस
  •    धीरज गुर्जर————- अध्यक्ष बीज निगम—————— सचिव अखिल भारतीय कांग्रेस

 

पायलट समर्थक ये नेता हैं दो पदों पर

 

  • -कुलदीप इंदौरा——- जिला प्रमुख गंगानगर—————— डांग विकास बोर्ड अध्यक्ष
  • -जीआर खटाणा——–अध्यक्ष भवन संनिर्माण समिति———महासचिव प्रदेश कांग्रेस
Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/