Chief Minister Ashok Gehlot will meet Sonia in Delhi today, discussion will be held on the suggestion of Chintan Shivir and PK
जयपुर राजस्थान

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की आज दिल्ली में सोनिया से मुलाकात, चिंतन शिविर और पीके के सुझाव पर होगी चर्चा

जयपुर। देश के मौजूदा हालात और कांग्रेस की स्थिति को लेकर राजस्थान में 14 मई से 16 मई तक प्रस्तावित कांग्रेस के चिंतन शिविर पर फाइनल मंथन के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) आज दिल्ली दौरे पर जा रहे हैं, जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री केसी वेणुगोपाल और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाकात का कार्यक्रम है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज सुबह 9:30 बजे जयपुर से दिल्ली के लिए रवाना हुए। 10:30 बजे दिल्ली पहुंचे जहां सीधे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर पहुंचकर सोनिया गांधी और वेणुगोपाल के साथ बैठक करेंगे जहां पर कांग्रेस के चिंतन शिविर पर चर्चा होगी।

जयपुर या उदयपुर में चिंतन शिविर, आज हो जाएगा फैसला

आज सोनिया गांधी के साथ होने वाली बैठक में कांग्रेस पार्टी का चिंतन शिविर उदयपुर में कराया जाए या जयपुर में, इसका फैसला भी आज बैठक में हो जाएगा। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी इस पर फैसला लेंगी। सोनिया गांधी के फैसले के बाद ही कांग्रेस के चिंतन शिविर को लेकर तैयारियां तेज की जाएंगी।
दरअसल पार्टी का एक धड़ा जहां कांग्रेस चिंतन शिविर उदयपुर में कराए जाने के पक्ष में है तो वही कई वरिष्ठ नेता राजधानी जयपुर में चिंतन शिविर कराए जाने के पक्ष में है। इसी को लेकर आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे।

उदयपुर में चिंतन शिविर के पीछे एक वजह यह भी

दरअसल कांग्रेस का चिंतन शिविर इस बार उदयपुर में कराए जाने के पीछे एक वजह यह भी है कि इस साल नवंबर में गुजरात में विधानसभा चुनाव होने हैं और उदयपुर गुजरात से सटा हुआ है। ऐसे में पार्टी थिंक टैंक का मानना है कि अगर उदयपुर में कांग्रेस का चिंतन शिविर होता है तो गुजरात कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में इससे जोश आएगा और कार्यकर्ता पूरे जोश के साथ विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटेंगे।

उदयपुर में कई लग्जरी होटल देख चुके हैं गहलोत- माकन

इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश प्रभारी अजय माकन 14 अप्रैल को उदयपुर यात्रा के दौरान चिंतन शिविर के मद्देनजर कई लग्जरी होटल देख चुके हैं जिनमें चिंतन शिविर में भाग लेने वाले नेताओं और कार्यकर्ताओं को ठहराने की व्यवस्था भी होगी।

पीके के सुझाव पर भी होगी बैठक में चर्चा

इधर चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को दिए गए सुझावों को लेकर भी बैठक में चर्चा होगी और प्रशांत किशोर (पीके) को पार्टी में शामिल करके क्या जिम्मेदारी दी जाए इस पर भी कांग्रेस अध्यक्ष और सीएम गहलोत के बीच चर्चा होनी है।

2013 में जयपुर में हो चुका चिंतन शिविर

इससे पहले साल 2013 में जयपुर में बिरला सभागार में कांग्रेस का चिंतन शिविर हो चुका है। उस वक्त केंद्र में यूपीए की सरकार और राज्य में गहलोत सरकार थी। चिंतन शिविर में भाग लेने वाले नेताओं को ठहराने के लिए जयपुर के कई लग्जरी रिसोर्ट और होटल बुक किए गए थे। बड़ी बात यह भी है कि जयपुर में 2013 में हुए कांग्रेस के चिंतन शिविर में ही राहुल गांधी को पार्टी का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया था।

पांच राज्यों की हार सहित कई मुद्दों पर होगी चिंतन शिविर में चर्चा

14 से 16 मई तक होने वाले कांग्रेस के चिंतन शिविर में पांच राज्यों में हुई पार्टी की हार, संगठन चुनाव के साथ ही इसी साल होने वाले गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में पार्टी की रणनीति को लेकर चर्चा होगी। साथ ही मौजूदा देश के हालात, बढ़ती महंगाई को लेकर भी चिंतन शिविर में मंथन होगा।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/