निदेशक ने राजकीय शिक्षकों पर लगाया अंकुश , ट्यूशन पढ़ाते मिलने पर होगी कार्रवाई

Tonk News/ लियाक़त अली  । माध्यमिक शिक्षा बीकानेर राजस्थान के निदेशक ने उन राजकीय शिक्षकों पर अंकुश लगाने की कवायद की है जो कॉचिंग व अपने घरों पर ट्यूशन पढ़ाते थे। इसके लिए माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने आदेश जारी किए हैं कि राजकीय विद्यालयों में कार्यरत व्याख्याता, संस्था प्रधान और सभी स्तर के शिक्षक कॉचिंग संस्थानों, अपने घर या किसी किराए के आवास पर ट्यूशन पढ़ाते मिले तो उन पर कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए टोंक जिले में जिला शिक्षा अधिकारी उपेन्द्र कुमार ने सभी स्कूलों में निदेशक के आदेश को भेजा है।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार कोई भी राजकीय शिक्षक व अन्य किसी कॉचिंग व आवास पर ट्यूशन पढ़ाते मिले तो उनके खिलाफ राजस्थान सिविल सेवा और आचरण नियमों के तहत कार्यवाही की जाएगी। इसी आदेश को लेकर टोंक शहर के निजी विद्यालयों के एक प्रतिनिधि मंडल ने मंगलवार केा टोंक में अतिरिक्त जिला शिक्षाधिकारी सीता राम साहू को एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि सरकारी शिक्षक, वरिष्ठ शिक्षक एवं व्याख्याताओं की ओर से अवैध रूप से घरों में ट्यूशन एव कॉचिंग संस्थान में पढ़ाया जा रहा है। निजी स्कूल संचालकों ने ऐसे शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में विवेक काला, मुमताज खान, विशाल श्रीवास्तव शाहिद खान आदि मौजूद थे।गौरतलब है कि इससे पहले भी सीताराम सोनी प्राइवेट स्कूलों में और अपने के आवास पर ट्यूशन करते पकड़े गए थे । उनके खिलाफ विभागीय जांच भी हुई थी ।