राजस्थान में अब ऑनलाइन मिलेगा इलाज, अस्पतालों में लंबी लाइनों से मिलेगा छुटकारा

Dr. CHETAN THATHERA
3 Min Read

जयपुर। प्रदेश में भाजपा की सरकार ने सत्ता संभालने के साथ ही जनता को राहत देने वाली योजनाएं और सुविधाओं को प्रारंभ करना शुरू कर दिया है और इसी कड़ी में प्रदेश सरकार एक बहुत ही अनूठा नवाचार करने जा रही है जिसके तहत अब सरकारी अस्पतालों में उपचार के लिए रोगियों को और उनके परिजनों को चिकित्सक को दिखाने के लिए लंबी कतार में खड़ा नहीं होना पड़ेगा सरकार के नवाचार कहते तब ऑनलाइन इलाज की सुविधा उपलब्ध होगी इस नवाचार का सरकार ने क्रियान्वयन के लिए प्रयास तेजी से कर दिए हैं।

प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं से लेकर मेडिकल तंत्र को पूरी तरह ऑनलाइन करने के लिए सरकार नया प्रोजेक्ट लेकर आ रही है। विकसित देशों की तर्ज पर स्वास्थ्य सेवाओं और मेडिकल सिस्टम को पूरी तरह ऑनलाइन करने के लिए इन्टीग्रेटेड हैल्थ मैनेजमेंट सिस्टम 2.0 लागू किया जाएगा। नए सिस्टम को लागू करने से पहले विभाग के स्तर पर इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं।

स्वास्थ्य विभाग की एसीएस शुभ्रा सिंह ने इन्टीग्रेटेड हैल्थ मैनेजमेंट सिस्टम 2.0 को लेकर रिव्यू बैठक की, इस बैठक में जल्द हर स्तर पर तैयारियां करने को कहा है। शुभ्रा सिंह ने कहा कि आम लोगों को अच्छे इलाज और स्वास्थ्य सेवाओं की क्वालिटी सुधारने के लिए यह विजनरी प्रोजेक्ट है।

Advertisement

यह एक अत्याधुनिक हैल्थ मैनेजमेंट सिस्टम होगा, जिससे प्रदेश के मेडिकल सिस्टम में क्रांतिकारी बदलाव आएगा। इससे इलाज मिलना आसान होगा, डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के सामने भी चुनौतियां कम होंगी।

मरीजों का इलेक्ट्रॉनिक हैल्थ रिकॉर्ड बनेगा

इंटीग्रेटेड हेल्थ मैनेजमेंट सिस्टम लागू होने के बाद मरीजों को इलाज के लिए और डॉक्टर को दिखाने के लिए कतारें नहीं लगानी पड़ेंगी। इसके तहत इलेक्ट्रॉनिक हैल्थ रिकॉर्ड, डिजी हैल्थ लॉकर, यूनीफाइड डिजीटल सर्वे, केपीआई आधारित डैशबोर्ड, स्वास्थ्य संबंधी लाइसेंस और एनओसी आदि के लिए सिंगल विंडो सिस्टम लागू किया जाएगा।

S.C.G.C.I SCHOOL TONK
ADVERTISEMENT

टेली आईसीयू, जीओ टेगिंग आधारित अस्पताल का मैप जैसी सुविधाएं भी मिलेंगी। इससे ज्यादातर स्वास्थ्य सेवाएं ऑनलाइन हो जाएंगी

हर सप्ताह होगा प्रोजेक्ट का रिव्यू

एसीएस शुभ्रा सिंह ने नए प्रोजेक्ट को जल्द तैयार करके इसे धरातल पर लाने को कहा है। इस प्रोजेक्ट का हर सप्ताह रिव्यू किया जाएगा।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम