अजमेर

शिक्षक की भूमिका में नजर आई जिला कलक्टर डोगरा, बच्चों को अनुशासित जीवन का पढ़ाया पाठ

 

अजमेर(नवीन वैष्णव)। जिला कलक्टर आरती डोगरा लगातार हर विभाग पर नजर रखे हुए है और जिले को श्रेष्ठ जिला बनाने के लिए निरन्तर प्रयास कर रही है। गुरूवार को डोगरा बांदनवाड़ा और पड़ांगा गांव का औचक निरीक्षण करने पहुंची। उन्होंने यहां स्कूल में जाकर बच्चों से पढ़ाई के संबंध में जानकारी ली साथ ही उन्हें पढ़ाया भी। इस दौरान डोगरा ने स्कूली बच्चों को गणित जैसे कठिन विषयां में अधिक मेहनत करने और नियमित अध्ययन की बात कही। वहीं उन्होंने बच्चों को कहा कि अनुशासित जीवन जीने वाला व्यक्ति ही सफल होता है।

जिला कलक्टर डोगरा ने आज बांदनवाड़ा और पड़ांगा गांवां का दौरा कर विभिन्न सरकारी कार्यालयों का निरीक्षण किया एवं कामकाज की जानकारी ली। उन्होंने कमियॉ सुधारनें तथा आमजन को अधिक से अधिक राहत पहुंचाने के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने विभागीय कामकाज का गहनता से निरीक्षण कर कहा कि प्रशासन का काम सरकारी योजनाओं को आम आदमी तक पहुंचाना है। डोगरा ने बांदनवाडा में राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय और राजकीय बालिका माध्यमिक विद्यालय का निरीक्षण कर राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने कक्षाओं में जाकर विद्यार्थियों से संवाद किया एवं बच्चों को मेहनत एवं लगन से अध्ययन करने की सीख भी दी। उन्होंने कहा कि गणित, अंग्रेजी एवं अन्य विषय कठिन लग सकते हैं लेकिन नियमित अध्ययन से सफलता पायी जा सकती है। विद्यार्थी अपने शिक्षकों से पूछकर अध्ययन करें तथा नियमित अभ्यास से अपने विषय को मजबूत करें। इस दौरान डोगरा ने उपखण्ड अधिकारी को नियमित रूप से स्कूल की मॉनिटरिंग की बात भी कही।
स्थानीय स्तर पर हों प्रसव

जिला कलक्टर डोगरा ने बांदनवाड़ा एवं पड़ांगा में चिकित्सालयों का निरीक्षण कर भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, निशुल्क दवा एवं जांच के साथ ही मरीजों को मिलने वाली अन्य सुविधाओं की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने चिकित्सकों एवं एएनएम को निर्देश दिए कि स्थानीय स्तर पर अधिक से अधिक प्रसव को बढ़ावा दें। कम से कम केसेज जिलास्तरीय अस्पतालों में रैफर करें। उन्होंने कहा कि जो भी व्यक्ति चिकित्सालय पर उपचार के लिए आता है, उसे योजनाओं का पूरा लाभ प्रदान किया जाए।
ग्राम संवाद कार्यक्रम माह में दो बार
जिला कलक्टर आरती डोगरा ने आज ही सरवाड़ और भिनाय की गोयला पंचायत के ग्रामीणों से वीसी के जरिए वार्तालाप कर उनका दर्द जाना। ग्रामीणों की परेशानियों के संबंध में अधिकारियां को भी निर्देशित किया गया। कलक्टर डोगरा ने कहा कि ग्रामीणों की समस्याओं की सीधे समाधान के लिए सॉफ्ट वीसी आयोजित की जायेगी। नवाचार के रूप में यह ग्राम संवाद कार्यक्रम प्रतिमाह दो दिन आयोजित होगा। प्रत्येक दिन तीन ग्राम पंचायतों का चिन्हीकरण करके ग्राम स्तर पर ही समस्याओं का समाधान करवाने का प्रयास किया जायेगा।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *