Chinmayi Gopal
टोंक राजस्थान

टोंक जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल की अनूठी पहल ’जीवन….एक नई राह पर’ कौशल प्रशिक्षण से जेल बंदियों को मिला हाथ का हुनर

टोंक। टोंक जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल द्वारा जेल बंदियों के लिए ’’जीवन…..एक नई राह पर’’ कार्यक्रम 16 जून 2022 से शुरू किया गया था। इस अनूठी पहल के तहत जिले के टोंक कारागार के जेल बंदियों में कौशल विकसित कर हाथ का हुनर देने का निर्णय लिया गया। इसके लिए बड़ौदा स्वरोजगार विकास संस्थान,टोंक के तत्वावधान में जेल बंदियों के लिए कारागार परिसर में डेयरी फार्मिंग एवं वर्मी कम्पोस्ट मेकिंग प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किए गए।

31 जुलाई तक बड़ौदा स्वरोजगार विकास संस्थान टोंक द्वारा जिला कारागार टोंक में दो प्रषिक्षण कार्यक्रम पूर्ण करवाए जा चुके है। जिनमें कुल 70 प्रतिभागियों ने सफल प्रशिक्षण प्राप्त किया है। इन कार्यक्रमों के दौरान जेल परिसर में वर्मी कम्पोस्ट यूनिट, शेड नेट हाउस, कम्पोस्ट यूनिट, अजोला यूनिट, सीडलिंग यूनिट, (हॉर्टिकल्चर यूनिट) का निर्माण कराया गया। वर्तमान में जिला कारागार टोंक में डेयरी फार्मिंग एवं वर्मी कम्पोस्ट मेकिंग प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। जिसमें जेल की 35 बंदी हिस्सा ले रहे है।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिला कलेक्टर,टोंक द्वारा जेल बंदियों के लिए शुरू की गई एक नई पहल के तहत प्रशिक्षण से बंदी अपने जीवन को एक नई राह देकर एक सार्थक जीवन जी सकेंगे। इसके लिए प्रत्येक बंदी को उसकी रूचि अनुसार कौशल प्रदान किया जायेगा। ’’जीवन….. एक नई राह पर’’ कार्यक्रम के तहत टोंक कारागार बंदियों को बैंक ऑफ बड़ौदा द्वारा प्रायोजित बड़ौदा स्वरोजगार विकास संस्थान, (बड़ौदा आर-सेटी),टोंक द्वारा विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रम डेयरी फार्मिंग एवं वर्मी कम्पोस्ट मेकिंग, घरेलू अगरबत्ती निर्माण, केन्डल मेंकिंग, जूट उत्पाद, बकरी पालन, फास्ट फूड आदि बनाने संबंधी प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाए जाऐंगे।

जिला कलेक्टर द्वारा शुरू किए गए इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों के बारे में जेल अधीक्षक संजय ने बताया कि जेल के कैदियों का आगामी जीवन सार्थक बनाने के लिए प्रारम्भ की गई यह पहल बहुत ही प्रेरणादायक है। समाज के बारे में तो सभी सोचते हैं किन्तु समाज से भिन्न इस तबके के लिए जीवन को नई राह देने के लिए जेल में चलाये जा रहे यह प्रशिक्षण कार्यक्रम अनूठे है।

आर-सेटी निदेशक वीरेन्द्र यादव ने बताया कि संस्थान द्वारा विभिन्न गतिविधियों यथा महिला ब्यूटी पार्लर, डेयरी फार्मिंग एवं वर्मी कम्पोस्ट मेकिंग, घरेलू अगरबत्ती निर्माण, कैंडल मेकिंग, जूट उत्पाद, बकरी पालन, फास्ट फूड, मुर्गी पालन व कॉस्टयूम ज्वैलरी मेकिंग, कम्प्यूटर हार्डवेयर नेटवर्किंग, मोबाइल रिपेयरिंग आदि के निःशुल्क प्रशिक्षण देकर स्वरोजगार प्रारम्भ करने के लिए बैंक के माध्यम से ऋण उपलब्ध करवाया जाता है।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/