टोंक राजस्थान

टोंक जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल के नवाचार ’’मिशन विमुक्तजन उन्नयन’’ में समाज की कमजोर कड़ी को जोड़ने का प्रयास

टोंक । जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल के नवाचार ’’मिशन विमुक्तजन उन्नयन’’ के तहत टोंक जिले मंे विमुक्त, घुमन्तु, अर्द्धघुमन्तु एवं अन्य वंचित जातियों को समाज की मुख्य धारा में लाने का प्रयास हैं।

इसमें गैर सरकारी संगठन एक्शन एड भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा हैं। ’’मिशन विमुक्तजन उन्नयन’’ में समाज की सबसे कमजोर कड़ी को जोड़ने एवं उनको सशक्त बनाने की दिशा में शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में सहायक कलेक्टर शिप्रा जैन की अध्यक्षता में बैठक आयोजित हुई।

सहायक कलेक्टर ने कहा कि जिला कलेक्टर के इस नवाचार का उद्देश्य मुख्य धारा से वंचित लोगों को व्यक्तिगत एवं सामूहिक लाभ की सरकारी योजना से जोड़ने, उनकी सामाजिक, शैक्षणिक एवं आर्थिक स्तर से सुधार करने का प्रयास है। साथ ही समुदाय के लोगों में स्वास्थ्य, पोषण सहित अन्य बिन्दुओं पर कार्य करने पर जोर देना हैं।

बैठक में इन समुदाय के प्रमुख व्यवसाय, वर्तमान स्थिति, शिक्षा का स्तर, स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता, सरकार की योजनाओं से जुड़ाव के साथ नीतिगत प्रयास एवं अतिरिक्त वित्तीय आवश्यकता पर चर्चा की गई।

एचसीएल के प्रतिनिधि निखिल पंत ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा समाज की मुख्य धारा से वंचित लोगांे के जीवन को सुदृढ़ करने के लिए किया जा रहे प्रयास सराहनीय है।

जिला प्रशासन के साथ सीएसआर (सोशल कॉर्पोरेट रेस्पोंसिबिलिटी) के तहत एचसीएल भी इस कार्य में सहयोग करने पर चर्चा कर रहा है।

एक्शन एड की क्षेत्रीय प्रतिनिधि सियान एवं जिला कोर्डिनेटर जहीर आलम ने भी जिला प्रशासन के साथ मिलकर समाज के विभिन्न तबकों के बीच किए जा रहे कार्यो की जानकारी दी।

बैठक में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक राजेन्द्र गुर्जर, आईसीडीएस की सीडीपीओ संगीता, शिक्षा विभाग की सहायक निदेशक सुशीला करणानी, चिकित्सा विभाग के डिप्टी सीएमएचओ डॉ. महबूब खान ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/