पुलिस पर हमला, थानेदार सहित तीन घायल

Jodhpur News । कमिश्नरेट के जिला पूर्व की डांगियावास पुलिस पर बुधवार रात को हमला हुआ। गश्त पर चल रही पुलिस ने सामने से आ रही एक स्कार्पियो को रूकवाया। रूकने के बजाय पुलिस पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। पुलिस ने जैसे तैसे गाड़ी को रूकवाया। फिर स्कार्पियो से एक बदमाश उतर कर भाग गया। दो बदमाशों को थानेदार व दो सिपाहियों ने दबोच लिया। मगर धक्काधूम और मारपीट कर दोनों बदमाश भी भाग गए। एक बदमाश आम्र्स एक्ट में न्यायिक अभिरक्षा में था जोकि दो माह से पैरोल अवधि से भागा हुआ है। जबकि इस बदमाश का एक साल सैन्यकर्मी बताया जाता है। पुलिस ने घटना के बाद से ही रात भर नाकाबंदी करवाई। मगर गुरुवार दोपहर तक पुलिस के अधिकारी कई ठिकानों पर दबिश देते देेखे गए। घटना के संबंध में डांगियावास थानेदार की तरफ से हत्या प्रयास सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज हुआ है।

पुलिस ने मौके पर स्कार्पियो को जब्त किया। जिसमें फर्जी नंबर की प्लेटें होने के साथ 20 कारतूस, दो खाली कारतूस के खोल, एक 12बोर एक्शन गन मिली है। बदमाशों की अब सरगर्मी से तलाश की जा रही है।
एसीपी मंडोर राजेेंद्र प्रसाद दिवाकर ने बताया कि डांगियावास थानाधिकारी सबइंस्पेक्टर क न्हैयालाल, सिपाही तेजाराम और महेंद्र रात दस बजे के आस पास गश्त करते हुए कोकूंडा रोड पर पहुंचे थे। तब सामने से आ रही एक स्कार्पियो को रूकने का इशारा किया गया। इस पर चालक ने पुलिस की गाड़ी को टक्कर मारने के साथ थानाधिकारी कन्हैयालाल पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। फिर जैसे तैसे वे बचे और स्कार्पियो का रूकवाया गया। इतने में एक बदमाश स्कार्पियो से उतर कर भाग गया। बाद में दो शख्स पीपाड़शहर के कुड़ निवासी सुरजाराम जाट पुत्र प्रतापराम जाट और कोकूंडा का सोहन उर्फ फौजी पुत्र गुणेशाराम जाट पुलिस से हाथापाई करते हुए उलझे।
थानाधिकारी सबइंस्पेक्टर कन्हैयालाल ने बताया कि सुरजाराम और सोहन उर्फ फौजी ने पुलिस से मारपीट करते हुए खुद को छुड़ा भाग गए। संभवत: कोई परिचित आया और बाइक पर बिठाकर दोनों को ले गया। घटना के वक्त आस पास लोगों का जमावड़ा भी हो गया। बाद में मौके पर छोड़ी गई स्कार्पियो की तलाशी ली तब उसमें से 20 जिंदा कारतूस, दो खाली कारतूस के खोल और 1 बारह बोर पंप एक्शन गन मिली। गाड़ी में कुछ नंबर प्लेटें मिली। प्रथम दृष्टया स्कार्पियो चोरी की निकली है। फर्जी नंबर प्लेटें लगाकर उसे चलाया जा रहा था।

सुरजाराम पैरोल से फरार:

थानाधिकारी कन्हैयालाल ने बताया कि पीपाड़शहर के कुड़ का रहने वाला सुरजाराम आम्र्स एक्ट केस में न्यायिक अभिरक्षा में था। वह 10 अक्टूबर से पैरोल अवधि से फरार चल रहा था। आदतन अपराध प्रवृति का है। उसके साथ उसका साला सोहन उर्फ फौजी है जोकि वर्तमान में सैन्यकर्मी है। वह संभवत: छुट्टियों पर हो सकता है। यह लोग मादक पदार्थ और अवैध हथियारों की तस्करी में वांछित रहे है।

थानाधिकारी व सिपाही जख्मी:

बदमाशों से संघर्ष करते हुए थानाधिकारी कन्हैयालाल, सिपाही तेजाराम और महेंंद्र जख्मी हुए है। हालांकि रात में ही उन्होंने अपना मेडिकल करवा दिया था। बदमाशों की तलाश में जिला पूर्व की पुलिस के साथ ग्रामीण पुलिस ने भी नाकाबंदी की। मगर आज दोपहर तक बदमाशों का पता नहीं चल पाया।