मरीजों के प्रति अपना फर्ज भूलें चिकित्सक – डॉक्टरों का घंटों इंतजार , सआदत अस्पताल के चिकित्सक अपने निवासों पर ही देख रहे है, मरीज

टोंक, (फिरोज़ उस्मानी)। प्रदेश मे बी श्रेणी मे आने वाला टोंक का जिला सआदत अस्पताल के चिकित्सकों की मनमानी के चलते मरीजों को परैशानियों का सामना करना पड़ रहा है। अस्पताल के चिकित्सक चंद पैसों की लालच मे मरीजों के प्रति अपना फर्ज भी भूलते जा रहे है। अस्पताल मे आने वाले कई बिमारीयों से …

मरीजों के प्रति अपना फर्ज भूलें चिकित्सक – डॉक्टरों का घंटों इंतजार , सआदत अस्पताल के चिकित्सक अपने निवासों पर ही देख रहे है, मरीज Read More »

April 23, 2018 8:30 am

टोंक, (फिरोज़ उस्मानी)। प्रदेश मे बी श्रेणी मे आने वाला टोंक का जिला सआदत अस्पताल के चिकित्सकों की मनमानी के चलते मरीजों को परैशानियों का सामना करना पड़ रहा है। अस्पताल के चिकित्सक चंद पैसों की लालच मे मरीजों के प्रति अपना फर्ज भी भूलते जा रहे है। अस्पताल मे आने वाले कई बिमारीयों से ग्रसित पीडि़त रोगियों को चिकित्सकों का घंटों इन्तेजार करना पड़ता है।

सआदत अस्पताल मे जिले भर के हजारों मरीज रोजाना इलाज के लिये आते है। इन दिनों सआदत अस्पताल का चिकित्सकों द्वारा मरीजों को देखने का सुबह 8 से 12 व शाम को 5 बजे से लेकर 7 बजे तक का है।

   नही मिलते चिकित्सक

इन दिनों मौसम मे लगातार हो रहे बदलाव के कारण पेट मे दर्द, उल्टी-दस्त व बुखार के रोजाना लगभग 15/ 16 सौ मरीज ऑऊट-डोर मे आ रहे है। तथा इतने ही इनडोर मे भी आ जाते है। अपनी बिमारीयों से कराहते मरीजों को चिकित्सकों को दिखाने के लिये घटों इतेंजार करना पड़ रहा है। ऐसा नजारा आप सआदत अस्पताल में कभी भी देख सकते है।  जब अस्पताल के चिकित्सक 5 से 7 बजे तक आऊट-डोर के दोरान का समय होने के बाद  6 बजे तक भी अस्पताल मे नही पहुचतें। इससे वहां आने वाले मरीजों मे रोष व्याप्त होता है।  कई मरीज तो काफी लम्बी दूरी तय कर भी यंहा आते है।

  अपने निवास पर देखने में व्यस्त

दूसरी ओर जमीनी हकीकत ये है, कि मरीजों को देखने के समय अस्पताल के सरकारी चिकित्सक अपने निवास पर आने वाले मरीजों को देखने मे ही ज्यादा व्यस्त रहते है। जिसके कारण अस्पताल के ऑऊट -डोर मे मरीजों की लम्बी कतारे लग जाती है। अस्पताल मे आने वाले ये मरीज घटों अपन दर्द से जूझते दिखाई देते है। अपने निवासों स्थानों पर चंद पैसों के कमाई के आगे चिकित्सकों को मरीजों की तकलीफ से कोई सरोकार नही है। जब कुछ समय शेष रह जाता है, तब जाकर चिकित्सक अस्पताल मे कदम रखते है। चंद मरीजों को देखकर वो अपनी ड्यूटी पूरी कर वहां से निकल जाते है। ओर अपने निवास स्थान पर पहुचने वाले मरीजों मे व्यस्त हो जाते है।

Prev Post

जुमलो एवं सामंतवादियों की सरकार को आगामी विधानसभा चुनाव में जनता वोट से चोट देकर धराशायी कर देगी-हेमंत गुर्जर

Next Post

पानी निकासी के लिए मास्टर प्लान जरूरी : डॉ गर्ग 

Related Post

Latest News

भीलवाड़ा कलेक्टर मोदी का नवाचार, डिजिटल प्रवेशोत्सव से होगा अनामांकित एवं ड्रॉपआउट बच्चों का शत-प्रतिशत सर्वे,ठहराव की बनेगी कार्ययोजना 
गुलज़ारबाग क्षेत्र में गंदे पानी की सप्लाई, लोगों में रोष,नही हो रहा समस्या का समाधान,
अग्निपथ योजना पर रार: कांग्रेस सांसद हुड्डा का आरोप, 'पेंशन रोकने के लिए लाई गई है अग्निपथ स्कीम'

Trending News

भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर एक दिवसीय प्रवास 29 को भीलवाड़ा में
प्रशासन शहरों के संग अभियान-- 15 जुलाई से अब हर वार्ड में लगेंगे शिविर, हर जिले मे 2-2 पर्यटन स्थल बनेंगे -- CS शर्मा
वरिष्ठ IAS के बेटे की विजिलेंस टीम ने की हत्या ? या फिर आत्महत्या, टीम पर आरोप,फंसी
गुजरात दंगा - पूर्व DGP व तीस्ता गिरफ्तार

Top News

भीलवाड़ा कलेक्टर मोदी का नवाचार, डिजिटल प्रवेशोत्सव से होगा अनामांकित एवं ड्रॉपआउट बच्चों का शत-प्रतिशत सर्वे,ठहराव की बनेगी कार्ययोजना 
गुलज़ारबाग क्षेत्र में गंदे पानी की सप्लाई, लोगों में रोष,नही हो रहा समस्या का समाधान,
भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर एक दिवसीय प्रवास 29 को भीलवाड़ा में
प्रशासन शहरों के संग अभियान-- 15 जुलाई से अब हर वार्ड में लगेंगे शिविर, हर जिले मे 2-2 पर्यटन स्थल बनेंगे -- CS शर्मा
अग्निपथ योजना - कांग्रेस का सत्याग्रह कल, केन्द्र सरकार वापस ले योजना - शर्मा
अग्निपथ योजना पर रार: कांग्रेस सांसद हुड्डा का आरोप, 'पेंशन रोकने के लिए लाई गई है अग्निपथ स्कीम'
बजट घोषणाओं के क्रियान्वयन का जमीनी फीडबैक लेंगे मुख्यमंत्री गहलोत, विभागों के कामकाज का रिपोर्ट कार्ड भी होगा तैयार
अग्निपथ स्क्रीन के विरोध में कल 200 विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस का प्रदर्शन, पर्यवेक्षक भी पहुंचे ,कल सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक सभी विधानसभा क्षेत्रों में होंगे अलग-अलग प्रदर्शन
शोभा रानी कुशवाह की कांग्रेस से नजदीकी से नाराज पूर्व विधायक ने छोड़ी पार्टी, पीसीसी चीफ डोटासरा को भेजा इस्तीफा
वरिष्ठ IAS के बेटे की विजिलेंस टीम ने की हत्या ? या फिर आत्महत्या, टीम पर आरोप,फंसी