जयपुर राजस्थान

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बड़ी घोषणा, ‘प्रदेश का अगला बजट युवा केंद्रित होगा’

 

 -मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किया राजीव गांधी युवा एक्सीलेंस सेंटर का शिलान्यास 

 जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज एसएमएस स्टेडियम के पास स्थित यूथ हॉस्टल में युवाओं को एक ही छत के नीचे तमाम तमाम सुविधाएं देने के लिए आज राजीव गांधी युवा एक्सीलेंस सेंटर का शिलान्यास किया।

 4.28 करोड़ की लागत से करीब 8 महीने में सेंटर बनकर तैयार होगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच शिलान्यास किया। इस दौरान शिलान्यास समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ी घोषणा भी की। सीएम गहलोत ने कहा कि युवाओं को ध्यान में रखकर सरकार ने पहले भी कई बड़े फैसले लिए हैं और अब उनका प्रयास रहेगा कि प्रदेश का अगला बजट युवा केंद्रित होगा।

सीएम गहलोत ने कहा कि राजस्थान में इस बार सबसे ज्यादा कॉलेज हमारी सरकार में खोले गए हैं, राजस्थान देश में ऐसा पहला राज्य है जहां पर पूरी जनता का 10 लाख तक का बीमा कर दिया गया है, लीवर-किडनी ट्रांसप्लांट जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज का खर्च भी राज्य सरकार उठाएगी। उन्होंने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है जब 200 खिलाड़ियों को आउट ऑफ टर्न सरकार में नौकरी दी गई है।

सीएचए और अन्य मांगों को लेकर चल रहे धरने प्रदर्शन को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मुझे दुख होता है कि कुछ लोग धरना देते हैं, सरकार खुद चलकर नौकरी दे रही। अब तक 1 लाख लोगों को नौकरी दी जा चुकी है और 2 लाख की भर्ती प्रक्रिया चल रही है। राजस्थान सरकार के कार्यकाल में तीन लाख भर्ती दी जाएगी।

अग्निपथ स्कीम से युवाओं में आक्रोश 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार जहां युवाओं को नौकरियां दे रही है वहीं केंद्र सरकार युवाओं के सपने तोड़ने का काम कर रही है। केंद्र की मोदी सरकार बिना किसी से चर्चा किए अग्निपथ स्कीम ले आई जिसे लेकर युवाओं में खासा रोष है। अग्निपथ स्कीम को लाने से पहले रक्षा समिति में इस पर चर्चा होनी चाहिए थी और सेना के विशेषज्ञों के साथ भी चर्चा होनी चाहिए लेकिन ऐसा नहीं हुआ और अचानक से भर्ती भी शुरू कर दी गई है। सीएम गहलोत ने कहा कि आज देश में इसकी चिंता हम सबको होनी चाहिए।

अग्निपथ स्कीम के विरोध में आंदोलन हुए हैं लेकिन हिंसा और आगजनी का समर्थन नहीं किया जा सकता है। हिंसा और आगजनी का लोकतंत्र में कोई स्थान नहीं है, अच्छी बात है कि राजस्थान में भी अग्निपथ स्कीम को लेकर विरोध प्रदर्शन हुए लेकिन यहां के युवाओं ने अंहिसात्मक तरीके से प्रदर्शन किए हैं।

ग्रामीण ओलंपिक में 25 लाख नामांकन

 मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश में ग्रामीण ओलंपिक शुरू होने वाला है, इस ओलंपिक में अब तक 25 लाख लोगों ने आवेदन कर दिया है। यह विश्व में एक इतिहास बनाएगा की इतनी बड़ी संख्या में गांवों में खेलों के आयोजन होंगे और हर उम्र का ग्रामीण ओलंपिक में भाग लेगा। एक्सीलेंस समारोह को खेल मंत्री अशोक चांदना, राजस्थान युवा बोर्ड के चेयरमैन सीताराम लांबा और उपाध्यक्ष सुशील पारीक ने भी संबोधित किया।

वैदिक मंत्रोच्चार के भी शिलान्यास 

इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यूथ हॉस्टल परिसर में वैदिक मंत्रोच्चार के बीच एक्सीलेंस सेंटर का शिलान्यास किया। एक्सीलेंस सेंटर में एक साथ करीब 50 लोगों के रहने की सुविधा रहेगी, जिसमें उन्हें प्रशिक्षण रहने और खाने-पानी की सुविधा भी मिलेगी।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/