नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म के आरोपित ने मालगाड़ी के आगे कूदकर दी जान

जयपुर। दौसा महिला पुलिस थाने में एक नाबालिग ने नांगलराजावतान थाने के बागपुरा निवासी तीन युवकों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है। इनमें से एक आरोपित ने लालसोट बायपास के समीप

May 19, 2018 1:13 pm

जयपुर। दौसा महिला पुलिस थाने में एक नाबालिग ने नांगलराजावतान थाने के बागपुरा निवासी तीन युवकों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है। इनमें से एक आरोपित ने लालसोट बायपास के समीप

रेलवे टै्रक पर मालगाड़ी के आगे कूदकर जान दे दी। पुलिस नेपोस्टमार्टम कराकर शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया। थाना प्रभारी मांगीलाल मीना ने बताया कि नांगलराजावतान थाने के एक गांवकी नाबालिग ने पिता के साथ आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि बागपुरा निवासी संजीव उर्फ संजू पुत्र गंगाराम मीना,धर्मराज पुत्र हजारीलाल मीना

एवं राजाराम पुत्र रतनलाल मीना ने उसको अलग- अलग होटलों में लेजाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। नाबालिग ने आरोप लगाया कि 16मई को वह पिता के साथ महिला कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष की परीक्षा देने आई

थी। तभी पिता उसके भाई को रेलवे स्टेशन पर छोडऩे चले गए। पीछे सेबागपुरा निवासी संजीव व धर्मराज बाइक लेकर आए और उसको रेलवेस्टेशन ले गए। वहां से उसको जयपुर होते हुए ट्रेन से कोटा ले गए। कोटा में एक होटल में रखा और दुष्कर्म किया। इसके बाद वे उसको ट्रेन से ही दौसा ले आए। यहां पर सिंगवाड़ा रोड पर एक गैस्ट हाउस में कमरा किराए लेकर दुष्कर्म किया। इसके बाद वे लालसोट बायपास की तरफ ले गए। जहां पर किसी की सूचना पर कोतवाली पुलिस आई। इस परसंजीव व धर्मराज तो भाग गए,लेकिन उसको कोतवाली पुलिस थाने ले आई। नाबालिग ने बताया कि 13मई 2018 को भी उसको संजीव,धर्मराज एवं राजाराम उसको घर से ले सिकंदरा ले गए। वहां भी दुष्कर्म किया। सिंगवाड़ा रोड पर आरोपितों द्वारा गैस्ट हाउस में किराए पर लिएकमरे को भी पुलिस ने सीज कर दिया है। पुलिस अधीक्षक ने इसकी जांच एससी/ एसटी सैल के पुलिस उपाधीक्षक को जांच सौंप दी। इधर कोतवाली पुलिस नाबालिग को लेकर थाने ले गई और दुष्कर्म का एक आरोपित लालसोट बायपास पर रेलवे ट्रेक पर चला गया। कोतवाली थाना पुलिस ने बताया कि गुरुवार शाम 6.50 बजे उनके पास स्टेशन मास्टर ने सूचना दी

कि एक युवक ने दौसा से जयपुर की ओर जा रही मालगाड़ी के आगे जानदे दी। पुलिस वहां पहुंची तो संजीव ऊर्फ संजू का शव वहां मिला।मालगाड़ी भी करीब आधा घंटे खड़ी रही। गुरुवार सुबह पता चला किमृतक के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज हो गया था। उसके साथ दो औरआरोपित थे। जिला अस्पताल में शुक्रवार सुबह मृतक युवक संजीव का पोस्टमार्टम कराने आए परिजन एवं ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि संजीव ने आत्महत्या नहीं की। उसको तो किसी ने मारकर ट्रेक पर डाला है। संदेह के आधार पर पुलिस ने मेडिकल बोर्ड गठित कर शव कापोस्टमार्टम कराया। कोतवाली थाना प्रभारी अजय यादव ने बताया कि युवक के परिजनों ने कोई रिपोर्ट तो नहीं दी है, लेकिन मामला मर्ग में दर्ज किया है।

Prev Post

नाबालिग को फिल्में देखकर आया डॉन बनने का आइडिया,कर डाली खौफनाक वारदात

Next Post

राज्य के दक्षिण पश्चिमी हिस्सों में भीषण गर्मी का दौर

Related Post