माला-साफा नहीं पौधा देकर किया जा रहा है नेताओं का स्वागत

Dousa News । मुख्य सचिव डीबी गुप्ता की ओर से 17 फरवरी को सरकारी कार्यक्रमों में अधिकारियों को स्वागत नहीं कराने के दिए गए निर्देश का भी तोड़ निकाल लिया गया। अधिकारी का अब साफा-माला नहीं पौधा देकर स्वागत किया जा रहा है। इसका उदाहरण बुधवार को यहां महिला एवं बाल विकास  विभाग की ओर से आयोजित कार्यक्रम में देखने को मिला।

कार्यशाला के दौरान दौसा के उप जिला कलेक्टर पुष्कर मित्तल अतिथि के रूप में पहुंचे,जहां उनका स्वागत पौधा देकर किया गया। इस अनूठे तरह से स्वागत करने पर मुख्य अतिथि  मित्तल भी खुश नजर आए। हालांकि इस कार्यशाला में कोई जन प्रतिनिधि मौजूद नहीं था। लेकिन अधिकारियों ने अतिथि को पौधा देकर एक ओर जहां स्वागत की औपचारिकता पूरी की वहीं इससे पर्यावरण के प्रति जागरूकता का संदेश देने की कोशिश भी की गई।   विभाग के सहायक निदेशक युगल किशोर मीणा ने कहा कि उन्होंने इस तरह स्वागत कर परम्परा तो निभाई है साथ ही सरकारी नियमों की पालना करते हुए आमजन में पर्यावरण के प्रति जागरूकता का संदेश देने का भी प्रयास किया है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर जनप्रतिनिधियों को उचित सम्मान मिले। इसी के लिए गाइडलाइन जारी की गई थी। इसमें अधिकारियों पर माला और साफा पहनने की पाबंदी लगाई गई थी। साथ ही शिलालेख पट्टिकाओं पर भी अधिकारियों के नाम नहीं लिखने की गाइडलाइन जारी की थी। इस गाइडलाइन के बाद जब कोई बड़ा कार्यक्रम होता है और उसमें जनप्रतिनिधि आते हैं तो आमतौर पर अधिकारी मंच से भी दूरी बना लेते हैं ताकि गाइडलाइन की पूर्णतया पालना हो जाए।

Slider