रामलला की प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव 7 दिवसीय होगा, शेड्यूल जारी

Dr. CHETAN THATHERA
3 Min Read
Photo - आजतक

दिल्ली/ अयोध्या में बहुप्रतीक्षित रामलला के मंदिर में रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर देश भर में विभिन्न कार्यक्रम प्रारंभ हो गए हैं और प्राण प्रतिष्ठा के दिन होने वाले कार्य में कर्मों को लेकर भी देश भर में तैयारी चल रही है तथा अयोध्या में भी इस भव्य कार्यक्रम को लेकर युद्ध स्तर पर तैयारी चल रही है रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का 7 दिवसीय कार्यक्रम होगा । इन सात दिनो तक क्या-क्या कार्यक्रम होंगे और क्या प्रोग्राम होंगे इसका एक शेड्यूल निर्धारित करते हुए जारी कर दिया गया है आईए जानते हैं।

अयोध्या राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम 

16 जनवरी को ‘महापूजन’ आयोजित किया जाएगा। अनुष्ठान लक्ष्मीकांत के नेतृत्व में वैदिक विद्वानों द्वारा आयोजित किए जाएंगे और उनमें शामिल होंगे- सर्व प्रायश्चित होम, दशविद स्नान (सरयू नदी में स्नान), दोपहर में यजमान (यज्ञ करने वाला व्यक्ति) द्वारा अपना स्थान ग्रहण करना।

17 जनवरी को जलयात्रा, तीर्थ और कलश पूजन जैसे अनुष्ठान किए जाएंगे, जिसके बाद कलश यात्रा होगी।18 जनवरी को मंडप प्रवेश और यज्ञभूमि पूजन के साथ-साथ प्रधान संकल्प और गणेशम्बिका पूजन जैसे मुख्य अभिषेक अनुष्ठान आयोजित किए जाएंगे।

19 जनवरी को देवता पूजन, वेदों की सभी शाखाओं का पाठ, अधिवासन, कुंडपूजन, हवन के लिए प्राकृतिक विधि से अग्नि फूंकना, जलाधिवास (मूर्ति को पानी में डुबोकर रखना) और अन्य प्राण-प्रतिष्ठा पूर्व अनुष्ठान किए जाएंगे।

20 जनवरी को वैदिक मंत्रोच्चार के बीच मंदिर का वास्तुपूजन किया जाएगा।

21 जनवरी को रामलला की मूर्ति को 114 कलशों में भरकर विभिन्न तीर्थ स्थलों और पवित्र नदियों के जल से स्नान कराया जाएगा। यह महापूजा और नगरभ्रमण करने से पहले किया जाएगा। बाद में, मूर्ति को यज्ञ मंडप में लाया जाएगा ताकि शैय्याधिवास, तत्वन्यास, महान्यास और अन्य अनुष्ठान किए जा सकें।

22 जनवरी को जब दोपहर में देवप्राणप्रतिष्ठा (अभिषेक) होगी, जिसके बाद महापूजन, आरती और पूर्णाहुति होगी।

पूजा कार्यक्रम के लिए तैयार की गयी है तीन टीम

अयोध्या राम मंदिर के कार्यक्रमों के सही प्रबंधन और आयोजन के लिए आचार्यों की तीन टीमों का गठन किया गया है। इसमें पहली टीम का नेतृत्व स्वामी गोविंद देव गिरी करेंगे। आचार्यों की दूसरी टीम की अगुवाई कांची कामकोटि शंकराचार्य विजयेंद्र सरस्वती करेंगे। वहीं तीसरी टीम में काशी के 21 विद्वान रहेंगे।

पीएम मोदी के अलावा मंदिर मे कौन रहेगा

प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के समय गर्भगृह में नरेंद्र मोदी के अलावा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, यूपी की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, संघ प्रमुख मोहन भागवत, और राम मंदिर के मुख्य आचार्य सत्येंद्र उपस्थित रहेंगे

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम