टोंक राजस्थान

चुनावी वादों को पूरा करने का कर रहे इन्तजार, ग्रामीणों ने खोला स्थानीय विधायक के खिलाफ मोर्चा लगायें नारे 

पीपलू (ओपी शर्मा) ।अक्सर देखा गया है कि जनता आरोप लगाती है कि नेता और मंत्री केवल चुनाव के वक्त ही नजर आते हैं, चुनाव जीतने के बाद लोगों की समस्या पूछने कोई नहीं आता है ऐसा ही मामला टोंक जिले के निवाई- पीपलू विधानसभा पीपलू तहसील मुख्यालय को जोडने वाले जौला, बगडी,करीमपुरा,दौताना, दोलतपुरा गावों का है। जंहा मुलभूत सुविधा सडक को लेकर ग्रामीणों मे स्थानीय विधायक के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। 

उपखंड मुख्यालय पीपलू को जोडऩे वाले मार्ग पर ढूसरी से बगड़ी के बीच करीब 4 किमी का रास्ता खराब हैं। जिस पर बारिश के दिनों कीचड़ होने से आवागमन में परेशानी होती हैं। चुनावों के समय क्षेत्रीय विधायक प्रशांत बैरवा ने जीतने के बाद ग्रामीणों को ढूसरी से बगड़ी तक प्राथमिकता के साथ पक्की सड़क बनवाने का वादा किया था।

लेकिन आज करीब 3 साल बाद भी वह वादा पूरा नहीं हो पाया है। ऐसे में जिला परिषद सदस्य गलखू देवी, श्रीराम चौधरी, सरपंच समोदरा चौधरी, राजेश चौधरी के नेतृत्व में ग्रामीणों ने ढूसरी से बगड़ी तक 4 किमी पैदलयात्रा निकाली। इस दौरान एक वृद्ध कीचड़ में फिसलकर भी गिर गया। सड़क जैसी मूलभूत सुविधा के अभाव में ग्रामीणों ने विधायक के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए वादा खिलाफी का आरोप लगाया तथा अब आंदोलन की राह पकडऩे की चेतावनी दी हैं।

ग्रामीणों ने प्रशासन गांवों के संग अभियान, पंचायतस्तरीय जनसुनवाई, उपखंड स्तरीय जनसुनवाई, पंचायत समिति विकास अधिकारी, कलेक्टर की जनसुनवाई में भी कई बार यह समस्या बताई। सरपंच के नेतृत्व में गत दिनों ग्रामीणों ने जयपुर जाकर विधायक को भी अवगत करवाया तब विधायक ने मार्च तक सड़क बनाने का वादा किया लेकिन अब तक नहीं बन पाई है। ऐसे में अब ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा हैं। 

चुनावों का किया था बहिष्कार

ग्रामीणों ने विधानसभा, जिला परिषद, पंचायत समिति चुनावों का भी समय-समय पर बहिष्कार किया लेकिन प्रशासन ने पहुंचकर ग्रामीणों से समझाईश कर सड़क बनाने को लेकर आश्वासित किया।

ग्रामीण हर बार प्रशासन से सहमत होते रहे लेकिन इस बार सड़क का जल्द ही निर्माण सरकार व प्रशासन द्वारा नहीं करवाया जाता है तो आगामी दिनों में विधायक के खिलाफ वादाखिलाफी को लेकर धरना, अनशन करते हुए सरकार के खिलाफ आंदोलन किया जाएगा।

लगायें नारे

विधायक द्वारा कियें गये वादों को पूरा करने को लेकर ( विधायक सहाब होश मे आओं किये वादें पूरे करों) जैसे नारे लगायें ग्रामीणों ने बताया की जौला से पीपलू मुख्यालय को जोडने वाले रास्ते पर हजारों गहरे गड्ढे बने हुए है जिसके चलते तहसील मुख्यालय पंहुचने वाले ग्रामीणों को 40किलोमीटर का लम्बा चक्कर लगाकर पंहुचना पडता है ।

साथ ही इस रोड पर पैदल यात्राएँ , डिग्गी, रामदेवरा, के लिए आती रहती है , वहीं स्कुली बच्चों, गर्भवती महिलाओं को पीएचसी डारडातुर्की पंहुचने मे भारी समस्याओं से होकर गुजरना पडता है ग्रामीणों ने विधायक द्वारा किये गये वादों को पूरा करने की बात कहते हुए बताया की सरकार व प्रशासन 1माह मे अपने वादे पूरे नहीं करता है तो उग्र आंदोलन ,आमरण अनशन किया जायेगा व मुख्यमंत्री को अवगत करवाया जायेगा । 

बताते चलें करीब 50 हजार वोटर वाले इन गांवों के ग्रामीणों को सडक निर्माण के लिए क्षेत्रीय काग्रेस विधायक प्रशांत बैरवा ने कई बार आश्वासन दिया, लेकिन आश्वासन के बाद भी आज तक सडक निर्माण नहीं हो पाया, जिस कारण ग्रामीणों में क्षेत्रीय काग्रेस विधायक के खिलाफ आक्रोश है, जिसकों लेकर उग्र आंदोलन, व आमरण अनशन की ग्रामीणों ने चेतावनी दी है।

Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.