भीलवाड़ा राजस्थान

यूआईटी के कार्मिकों की मिली भगत, माफियाओं ने किया सड़क पर कब्जा, महंत ने दी आमरण अनशन की चेतावनी 

भीलवाड़ा/ नगर विकास न्यास भीलवाड़ा के कार्मिकों की मिलीभगत से भू माफियाओं के हौसले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं और हद तो तब हो गई जब इन कार्मिकों की मिलीभगत से भू माफियाओं ने शहर के प्रसिद्ध और प्राचीन पंचमुखी दरबार के चारों ओर नियमानुसार निर्धारित सड़क पर कब्जा कर कॉलोनियां काटना शुरू कर दिया है।

इसको लेकर आज मंदिर के महंत लक्ष्मण दास जी त्यागी के नेतृत्व में बड़ी संख्या में श्रद्धालु और भक्तों ने ज्ञापन दिया महंत जी ने चेतावनी दी कि अगर यह रोड नहीं छोड़ी गई तो वह आमरण अनशन करेंगे।

 

शहर के सबसे प्रसिद्ध धार्मिक और जन जन की आस्था के केंद्र पंचमुखी दरबार के पीछे दीवार से सटाकर एक निजी कॉलोनी काटी जा रही है इस कॉलोनी के भू रूपांतरण में पूर्व में यूआईटी से स्वीकृत सेक्टर 9 सेक्टर 12 तिलक नगर के प्लान में पंचमुखी दरबार की नाडी (तालाब) बाउंड्री जिसके सहारे यूआईटी की ओर से मास्टर प्लान में 60 फीट रोड दर्शाया गया है नियमानुसार तालाब से 60 फीट रोड छोड़ने के बाद ही कॉलोनी बनाई जा सकती है लेकिन कॉलोनी नाइजर द्वारा यूआईटी के कार्मिकों की मिलीभगत से प्लान में नियम विरूद्ध छेड़छाड़ कर रोड को नक्शे से हटा कर इस क्षेत्र में प्लाट काटकर परिवर्तन किया गया ।

नियम विरुद्ध किए जा रहे इस अतिक्रमण और कार्यवाही को लेकर पंचमुखी दरबार के भक्तों श्रद्धालुओं में तथा क्षेत्र के लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया है और आज इस संबंध में बड़ी संख्या में पंचमुखी दरबार से भक्त और श्रद्धालुओं ने दरबार के महंत लक्ष्मण दास जी के नेतृत्व में पहुंचकर जिला कलेक्टर आशीष मोदी को ज्ञापन दिया।

 ज्ञापन में मांग की गई कि यूआईटी द्वारा मास्टर प्लान में जो 60 फीट रोड दर्शाया गया है वह छोड़कर कॉलोनी काटी जाए अगर कॉलोनाइजर को नहीं रोका गया तो आंदोलन किया जाएगा।

इधर इस संबंध में दूसरी ओर पंचमुखी दरबार के महंत त्यागी लक्ष्मण दास जी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि अगर नियमानुसार 60 फीट रोड नहीं छोड़ी जाती है तो वह आमरण अनशन करेंगे जिसकी सारी जिम्मेदारी सरकार और जिला प्रशासन की होगी । ज्ञापन के दौरान हरी सेवा धाम के महामंडलेश्वर हंसाराम जी पुजारी मायाराम सहित कई संतगण भी मौजूद थे । 

जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने संत गाना और प्रतिनिधिमंडल को मौखिक रूप से आश्वस्त किया कि वे स्वयं घटनास्थल का आज मौका देखेंगे और अभी यूआईटी के अधिकारियों को दिशा निर्देश दे रहे हैं कि इस कॉलोनी के पट्टों की रजिस्ट्री पर फिलहाल रोक की जाए।

उधर विश्वस्त सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि इस इस कॉलोनी को लेकर यूआईटी से पत्रावली अर्थात फाइलें गायब है ? वही चर्चाओं का बाजार भी गर्म है कि इस मामले में प्लान में छेड़छाड़ कर 90A करने के एवज में अच्छे काशी बंदरबांट यूआईटी में हुई बताते हैं ?

महंत त्यागी लक्ष्मण दास की जुबानी

आप सभी जनता से और शासन और प्रशासन से भी निवेदन करना चाहूंगा कि मुझे न्याय दिया जाए अगर आप मुझे न्याय नहीं देंगे तो मैं यहां कलेक्ट्रेट पर अन्न जल त्याग कर अनशन पर बैठूंगा और मैं भीलवाड़ा शहर में जितने भी धर्म स्थान है जिनकी जमीनों पर कॉलोनाइजर ने कब्जा कर रखा है जहां अवैध कॉलोनियां बस गई है। उन सभी का न्याय मांगूंगा। जितने भी शहर में अवैध कॉलोनिया बन रही है चाहे व्यक्तिगत हो किसी की भी हो जहां-जहां भी भ्रष्टाचार व्यवस्था बिगाड़ी है जब तक न्याय नहीं मिलेगा तब तक मैं उठने वाला नहीं हूं।

मैं शासन से एक बार फिर निवेदन करता हूं और आप इस बात पर ध्यान दें शीघ्र न्याय दें नहीं तो भीलवाड़ा की जनता उग्र हो जाएगी तो प्रशासन को यह व्यवस्था संभालना भारी पड़ जाएगा और यह पूरा मामला राजस्थान तक जाएगा । राजस्थान में जितने भी देवस्थान की भूमि है जहां अवैध कब्जा है उसे मुक्त करा कर ही में दम लूंगा नहीं तो मैं अपने प्राण को भी नौछावर करने के लिए तैयार हूं। और मैं भीलवाड़ा की जनता से निवेदन करता हूं कि आप हाथ उठाकर कदम से कदम मिलाकर खड़े रहिए मैं न्याय लेकर ही दम लूंगा। युआईटी के कार्मिको पर कॉलोनाइजर पर मिलीभगत का आरोप भी लगाया

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम