आबकारी विभाग के बकाया राजस्व प्रकरणों के लिए एमनेस्टी योजना,कब तक जानें

आबकारी विभाग के वित्तीय सलाहकार  रामगोप मीणा ने बताया कि जो आबकारी राजस्व बकाया प्रकरण राजस्थान आबकारी अधिनियम 1950 एवं एनडीपीएस एक्ट 1985 के तहत आपराधिक प्रवृत्ति से संबंधित होगा उस प्रकरण में इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा

April 21, 2022 3:56 pm
Amnesty scheme for outstanding revenue cases of Excise Department, know how long

उदयपुर / आबकारी विभाग ( Excise Department ) के राजस्व बकाया के पुराने प्रकरणों को शीघ्र निस्तारित करने के लिए सरकार ने आबकारी एमनेस्टी योजना वर्ष 2022 की घोषणा की है। इसके तहत पुराने प्रकरणों में मूलधन एवं ब्याज में आकर्षक छूट दी जाएगी।

आबकारी आयुक्त  प्रकाश राजपुरोहित ने बताया कि 31 मार्च 2021 से पूर्व के आबकारी राजस्व बकाया प्रकरणों पर योजना लागू होगी। उक्त दिनांक तक की अवधि के मांग सृजन के प्रकरण भी इसमें सम्मिलित होंगे चाहे उनके आदेश 1 अप्रेल 2021 या उसके पश्चात जारी किए गए हों।

उन्होने बताया कि आबकारी ठेकों के बैक-आउट निविदादाताओं एवं अन्य बकाया राजस्व प्रकरणों के बाकीदारों से बकाया राशि वसूली के प्रकरणों को शीघ्र निस्तारित करने के उद्देश्य से सरकार ने यह योजना लागू की है। 31 मार्च 2009 तक के प्रकरणों में मूल बकाया राशि का 5 प्रतिशत जमा करवाने पर शेष 95 प्रतिशत राशि व सम्पूर्ण ब्याज माफ कर दिया जाएगा। 01 अप्रेल 2009 से 31 मार्च 2014 तक के प्रकरणों में मूल बकाया राशि का 50 प्रतिशत जमा करवाने पर शेष 50 प्रतिशत मूल राशि व सम्पूर्ण ब्याज राशि माफ कर दी जाएगी।

01 अप्रेल 2014 से 31 मार्च 2021 तक के बकाया प्रकरणों में सम्पूर्ण मूल राशि जमा करवाने पर ब्याज की सम्पूर्ण राशि माफी योग्य होगी। 31 मार्च 1989 तक के बैक-आउट के अलावा प्रकरणों में मूल राशि का 10 प्रतिशत जमा करवाने पर शेष पूर्ण राशि एवं सम्पूर्ण ब्याज माफ कर दिया जाएगा। 01 अप्रैल 1989 से 31 मार्च 2009 तक के बैक-आउट के अलावा प्रकरणों में 25 प्रतिशत मूल राशि जमा करवाने पर शेष राशि व सम्पूर्ण ब्याज माफी योग्य होगा। 01 अप्रैल 2009 से 31 मार्च 2014 तक के बैक-आउट से अलावा प्रकरणों में 50 प्रतिशत मूल राशि जमा करवाने पर शेष मूल राशि व सम्पूर्ण ब्याज माफ होगा।

01 अप्रैल 2014 से 31 मार्च 2021 तक के बैक-आउट के अलावा बकाया प्रकरणों की पूरी राशि जमा करवाने पर सम्पूर्ण ब्याज की छूट मिलेगी। जिन प्रकरणों में मूल राशि पूर्व में जमा करवा दी गई है और सिर्फ ब्याज बाकी है उन प्रकरणों में आवेदन करने पर सम्पूर्ण ब्याज में छूट मिलेगी।

इन प्रकरणों पर लागू नहीं होगी योजना-

आबकारी विभाग के वित्तीय सलाहकार  रामगोप मीणा ने बताया कि जो आबकारी राजस्व बकाया प्रकरण राजस्थान आबकारी अधिनियम 1950 एवं एनडीपीएस एक्ट 1985 के तहत आपराधिक प्रवृत्ति से संबंधित होगा उस प्रकरण में इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।

जिन प्रकरणों में पूर्व में सम्पूर्ण राशि जमा करवाई जा चुकी है उन पर विचार नहीं किया जाएगा।

पूर्व में आंशिक राशि जमा करवाई जा चुकी है तो शेष राशि पर ही योजना का लाभ मिल सकेगा।

यदि प्रकरण न्यायिक अथवा अर्द्ध न्यायिक प्रक्रिया में लम्बित है तो इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए न्यायालय में वाद वापस लेने का प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करना होगा।

योजना में निर्णित प्रकरण किसी भी न्यायालय में चुनौती योग्य नहीं होगें। इस बाबत बाकीदार की ओर से 500 रूपए के स्टाम्प पेपर पर वचन पत्र देना होगा।

Prev Post

What did the finance minister Nirmala Sitharaman said about teror funding related to crypto ?

Next Post

उदयपुर के 4 मेडिकल कॉलेज में MBBS व PG प्रवेश निरस्त, विद्यार्थियों का भविष्य खतरे में

Related Post

Latest News

पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज
बीसलपुर की लाइन टूटी, 15 दिन बाद भी नही हुई ठीक

Trending News

कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान

Top News

टोंक जिला स्तरीय राजीव गांधी युवा मित्र प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित%%page%% %%sep%% %%sitename%%
Upload state insurance and GPF passbook in new version of SIPF
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से सुमन, रिजवाना बानो एवं दिनेश को मिली राहत
पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज
बीसलपुर की लाइन टूटी, 15 दिन बाद भी नही हुई ठीक
Tonk: आवारा श्वान ने 7 लोगों को काटा, अस्पताल गए तो वहां भी नही हुई सार संभाल ,VIDEO 
IAS अतहर और डाॅ. महरीन आज बंधे शादी के बंधन में ,VIDEO
राजस्थान के सरकारी स्कूलों में मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने की जिम्मेदारी संस्था प्रधान की
पूर्व मंत्री और NCP नेता भुजबल का दुबई कनेक्शन का आरोप, FIR दर्ज