टोंक राजस्थान

फसलों में हुए नुकसान का ज्यादा से ज्यादा मुआवजा एवं आर्थिक मदद दिलाने का प्रयास करेगें – सचिन पायलट

टोंक। पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं टोंक विधायक  सचिन पायलट ने कहा है कि अतिवृष्टि से किसानों की फसलों में हुए नुकसान का ज्यादा से ज्यादा मुआवजा एवं आर्थिक मदद दिलाने का प्रयास किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि हाल ही में हुई बारिश से खेतों में पकी फसल ही नही बल्कि खड़ी फसल भी नष्ट हो गई है। उन्होंने कहा कि किसानों को खराब फसलों का मुआवजा ही नही बल्कि बीमा राशि भी मिले ताकि किसानों को अधिक से अधिक आर्थिक मदद मिल सकें।

 पायलट ने मंगलवार को अपने विधानसभा क्षेत्र टोंक के गांवो में फसल खराबे का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों को निर्देश दिए है कि गांवो में खराब फसलों की तुरन्त गिरदावरी करके रिपोर्ट राज्य सरकार को भेजी जाए ताकि समय पर मदद मिल सकें।

पायलट के साथ जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल, जिला पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी, एसडीएम टोंक गिरधर, तहसीलदार रामधन गुर्जर, कृषि विभाग टोंक के उपनिदेशक राधेश्याम मीणा, मदरसा बोर्ड के सदस्य सऊद सईदी, नगर परिषद टोंक के सभापति अली अहमद, उपसभापति बजरंगलाल वर्मा आदि मौजूद थे।

 पायलट का ग्राम शिवपुरी, ठिकरिया, अरनिया केदार, करीरिया के ग्रामीणों ने स्वागत किया तथा अपनी समस्या बताई। इस अवसर पर श्री सचिन पायलट ने ग्राम अरनिया तिवाड़ी, बालापुरा में खेतों में जाकर फसल खराबे की जानकारी ली।

किसानों ने अपनी पीड़ा सुनाते हुए कहा कि कर्ज लेकर बड़ी मुश्किल से अच्छी फसल की उम्मीद की थी लेकिन अतिवृष्टि एवं बेमौसम बारिश ने सब कुछ छीन लिया। पायलट ने कहा कि खराबे की फसल की गिरदावरी के आदेश दिए जा चुके है सभी को उचित मुआवजा दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस संकट के समय राज्य सरकार आपके साथ खड़ी है। इससे पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं टोंक विधायक श्री सचिन पायलट ने सर्किट हाऊस में आमजन से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनी।

Firoz Usmani
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।