बदहाल आंगनबाड़ी में पढने को मजबूर है मासूम

छत टपकती है साहब, अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान   निवाई । (विनोद सांखला) मासूमो को बचपन की शिक्षा देने राज्य सरकार आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन कर रही है मगर इन्ही आगनबाडीयो की बदहाल स्थिति को लेकर अधिकारियो से शिकायत किये जाने के बावजूद इसके सुधार को लेकर कार्यवाही नहीं किया जा रहा है । …

बदहाल आंगनबाड़ी में पढने को मजबूर है मासूम Read More »

July 25, 2018 6:11 am

छत टपकती है साहब, अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान

 

निवाई । (विनोद सांखला) मासूमो को बचपन की शिक्षा देने राज्य सरकार आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन कर रही है मगर इन्ही आगनबाडीयो की बदहाल स्थिति को लेकर अधिकारियो से शिकायत किये जाने के बावजूद इसके सुधार को लेकर कार्यवाही नहीं किया जा रहा है ।

 

टोंक जिले के निवाई विकासखंड के ग्राम पंचायत बड़ागाँव के खाजपुरा गांव की आंगनबाड़ी केंद्र की स्थिति बद से बदहाल हो चुकी है,बदहाली का आलम यह है कि बारिश के पानी से टपकते छत के नीचे बच्चे पढने को मजबूर है ।गांव खाजपुरा के देवराज गुर्जर व विक्रम गुर्जर ने बताया कि ग्रामीणों ने कई बार सरपंच व ग्राम पंचायत सचिव को अवगत करा दिया पर सरपंच व सचिव की अनदेखी से टपकते छत के निचे बच्चे पढ़ने को मजबूर है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने भी इस गंभीर मामले को लेकर कई बार महिला बाल विकास अधिकारी से शिकायत भी कर चुकी है । मगर इस क्षेत्र की महिला बाल विकास अधिकारी किसी बड़ी दुर्घटना का इंतजार कर रही है जिसके बाद ही आंगनबाड़ी कर्यकर्ताओ की शिकायत पर कार्यवाही किया जाएगा। प्रदेश में अधिकारियो का बोलबाला है जो जनप्रतिनिधियों की भी परवाह ना कर अपनी मनमानी करते आ रहे है जिसका सीधा-सीधा उदाहरण खाजपुरा की समस्या सर्वविदित होने के बावजूद सुधार के प्रयास नहीं किया जाना है

आंगनबाड़ी केंद्र बदहाल, कैसे स्वस्थ्य होंगे नौनिहाल

नौनिहालों की सेहत को लेकर सरकार फिक्रमंद है। इसके लिए गांव-गांव आंगनबाड़ी केंद्र खोले गए हैं। पर, हकीकत इसके विपरीत है। दरअसल जिले में संचालित अधिकतर केंद्रों के भवन जर्जर हैं। तमाम केंद्रों के पास तो अपना भवन ही नहीं है। बदहाल केंद्रों में गंदगी के बीच हर पल नौनिहालों की जिंदगी का खतरा बना रहता है। सैकड़ों केंद्र किराए के भवन या फिर परिषदीय स्कूलों में संचालित हो रहे रहे हैं। अव्यवस्थाओं के बावजूद विभाग इनकी सुध नहीं ले रहा है। कुछ केंद्र ऐसे भी हैं जहां भवन बनने के बावजूद केंद्र का संचालन नहीं हो रहा है। तमाम ऐसे भी हैं जहां बुनियादी सुविधाओं का टोटा है। बुधवार को दैनिक रिपोर्टर निवाई के संवाददाता विनोद सांखला ने ग्राम पंचायत बड़ागाँव की आंगनबाड़ी भवनों का जायजा लिया तो कुछ तस्वीर साफ हुई।

Prev Post

कुख्यात ईनामी बदमाश वरूण चौधरी व उसके साथी रिमांड पर

Next Post

रेलवे अंडरपास में भरे पानी में डूबे व्यक्ति की मौत, मुआवजे की मांग पर अड़े ग्रामीण

Related Post

Latest News

राजस्थान का अगला पायलट होंगे डाॅ जोशी ? सचिन नहीं, आलाकमान झुकेगा या 70 साल पहले का इतिहास दोहराया जा सकता, पढ़े खबर
टोंक के पचेवर ग्राम विकास अधिकरी 15 हज़ार रुपए लेते ट्रेप,पीएम आवास योजना की दूसरी किश्त जारी करने की एवज में मांग रहा था 20 हज़ार की घुस,
राजस्थान कांग्रेस में घमासान-अब गहलोत पर सकंट, ऑब्जर्वर लौटे, गहलोत व सचिन तलब,आलाकमान गहलोत से नाराज

Trending News

भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
ब्रश, स्पंज और उंगलियों से लिक्विड फाउंडेशन कैसे लगाएं
आपके जीवन में स्वस्थ कितना जरुरी हैं और आहार क्या है, फायदे और डाइट चार्ट
बोलेरो को ट्रेलर ने मारी टक्कर तीन की मौत दो बच्चों सहित पांच गम्भीर घायल, भीलवाड़ा रैफर

Top News

गहलोत सरकार के मंत्री शांति धारीवाल का बड़ा आरोप, गहलोत को हटाने का षड्यंत्र रच रहे थे माकन, सबूत पेश कर दूंगा
ACB का धमाका - PHED का चीफ इंजीनियर और दलाल 10 लाख रिश्वत लेते गिरफ्तार
जी 6 के विधायकों का गहलोत कैंप पर तीखा हमला, कहा- 'आलाकमान को आंख दिखाने वालों पर हो कार्रवाई'
मंत्री धारीवाल ने माकन के वक्तव्य पर किया पलटवार, माकन और आलाकमान को किया कटघरे में खड़ा
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए आ सकता है नया नाम, कौन, जानें पढ़े ख़बर 
राजस्थान का अगला पायलट होंगे डाॅ जोशी ? सचिन नहीं, आलाकमान झुकेगा या 70 साल पहले का इतिहास दोहराया जा सकता, पढ़े खबर
टोंक के पचेवर ग्राम विकास अधिकरी 15 हज़ार रुपए लेते ट्रेप,पीएम आवास योजना की दूसरी किश्त जारी करने की एवज में मांग रहा था 20 हज़ार की घुस,
राजस्थान कांग्रेस में घमासान-अब गहलोत पर सकंट, ऑब्जर्वर लौटे, गहलोत व सचिन तलब,आलाकमान गहलोत से नाराज
राजस्थान के सियासी घटनाक्रम से नाराज कांग्रेस आलाकमान ने प्रभारी अजय माकन से मांगी रिपोर्ट
टोंक में सड़क हादसे में 4 की मौत, कोटा एलन कोचिंग के छात्र हरिद्वार घूमने निकले थे, बाड़ा तिराहे पर हुआ हादसा