Tonk: Revenue officers should not allow encroachment on pasture land and common roads - Bhanwar Lal Mehra
टोंक राजस्थान

Tonk: राजस्व अधिकारी सिवायचक, चारागाह भूमि व आम रास्तों पर अतिक्रमण नहीं होने दे – भंवर लाल मेहरा

टोंक। संभागीय आयुक्त  भंवर लाल मेहरा ने गुरूवार को जिला मुख्यालय के भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केंद्र में आयोजित जिला स्तरीय जनसुनवाई में लगभग 5 घंटे आमजन की समस्याओं को सुना तथा संबंधित विभागों के अधिकारियों को प्रकरणों का निस्तारण करने के निर्देश दिए।

संभागीय आयुक्त ने कहा कि अधिकारी किसी भी सूरत में सिवायचक, चारागाह भूमि व आम रास्तों पर अतिक्रमण नहीं होने दे। साथ ही खेतों में जाने वाले कदमी रास्तों को चालू कराएं, ताकि किसान अपने खेत में जाने के लिए राजस्व अधिकारियों के चक्कर नहीं काटे। इन पर अतिक्रमण आपसी विवादों का कारण बनते है।

संभागीय आयुक्त ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि ग्रासरूट स्तर की सरकारी मशीनरी को जिम्मेदार व एक्टिव बनाए रखे, इससे समस्याओं का निस्तारण प्रारम्भिक स्तर पर ही हो सकेगा। कार्यालय में दैनिक जनसुनवाई करें, जिससे परिवादी को मौके पर ही राहत मिल सके।

संभागीय आयुक्त ने निर्देश दिए कि बजट घोषणा में जिन विभागों को भवन निर्माण के लिए भूमि का आवंटन किया जा चुका है, वह मौके पर कब्जा प्राप्त कर चारदीवारी या तारबंदी कराना सुनिश्चित करें जिससे भूमि पर अतिक्रमण नहीं हो।

संभागीय आयुक्त ने नगर परिषद टोंक के अधिशाषी अभियंता राकेश शर्मा को शहर की साफ-सफाई, रोड़ लाईट, सड़क व नाली निर्माण, आवासीय पट्टे देने में सकारात्मक ढंग से कार्य करने के निर्देश दिए।

जनसुनवाई में बनेठा निवासी गीता पुत्री हीरालाल के रजिस्टर्ड वसीयत के आधार पर नामान्तरण 4 माह से नहीं करने पर संभागीय आयुक्त ने इसे गंभीरता से लेते हुए उनियारा के नायब तहसीलदार को समस्त पत्रावली के साथ जिला कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत होकर नामान्तरण में देरी होने का स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी तहसीलदारों को सहमति से बंटवारे के प्रकरणों को प्राथमिकता से निस्तारित करने पर जोर दिया।

निवाई तहसील के ग्राम जामडोली निवासी बजरंग बलाई ने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा कि ग्राम में सरकारी रास्तों पर फर्जी पट्टे देने से आम रास्ते अवरूद्ध हो गए हैं। इस पर संभागीय आयुक्त ने उपखंड अधिकारी निवाई रविकांत सिंह व विकास अधिकारी रानू इंकिया को जांच कर विधि सम्मत कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया।

इसी तरह संभागीय आयुक्त ने अलीगढ़ निवासी सीताराम के पारिवारिक विवाद के कारण पट्टा नहीं बनने, ग्राम बिलोता के किसान जसराम को अपने खेत में जाने के लिए कदमी रास्ता दिलवाने, ग्राम पचाला में कदमी रास्ते चालू करवाने, तहसील मालपुरा के सीतारामपुरा से चारागाह से अतिक्रमण हटाने, छान में देवनारायण मंदिर के पास से अतिक्रमण हटाने, दूनी में नया गांव में 400 बीघा सिवायचक भूमि से अतिक्रमण हटाने को लेकर एसडीओ व तहसीलदार को सार्वजनिक हित मंे अतिक्रमियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देशित किया।

जनसुनवाई में नवल आटर््स के पंेटर ने स्वामी विवेकानंद मॉडल स्कूल में प्राचार्य द्वारा पेटिंग का कार्य कराने के बाद भुगतान नहीं करने की शिकायत की। संभागीय आयुक्त ने डीईओ (मा.) मीना लसाड़िया से कहा कि परिवादी को शीघ्र भुगतान किया जाएं।

संभागीय आयुक्त के समक्ष नगर परिषद टोंक को लेकर पुरानी टोंक निवासी ने आवास का पट्टा दिलाने, वार्ड नम्बर 5 अंबिका कॉलोनी में सीसी रोड़ बनवाने, मेंहदी बाग के लोगों ने आवारा कुत्तांे को पकड़ने, वार्ड नम्बर 2 में बैकुंठ धाम से अतिक्रमण हटाने संबंधित समस्याओं के निस्तारण के लिए अधिशाषी अभियंता को निर्देश दिएं।

जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल ने सभी जिला एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को कहा कि विगत चार माह में हुई जनसुनवाई में आए प्रकरणों के जवाब की उनके स्तर पर समीक्षा की गई है।

जिसमे जिन विभागों द्वारा समस्याओं व शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण व संतोषजनक निस्तारण नहीं किया है। उन प्रकरणों को पेंडिंग मानकर विभागों को पुनः भिजवाया जा रहा हैं। आगामी तीन दिन में इन प्रकरणों का निस्तारण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

जनसुनवाई में पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी, सीईओ देशलदान, एडीएम शिवचरण मीणा, एसडीएम टोंक गिरधर सहित विभिन्न विभागों के जिला एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

 

Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.