टोंक में ऑक्सीजन पर हाहाकार,ऑक्सीजन की कमी कोविड मरीज़ों को किया डिस्चार्ज, कई मरीज़ गंभीर

Tonk(फ़िरोज़ उस्मानी)। टोंक में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते अब चिकित्सकों ने भी अपने हाथ खड़े कर दिए है। ऑक्सीजन की कमी के चलते टोंक के कोविड मरीज़ अब भगवान भरोसे ही है। टोंक की स्थिति ऑक्सीजन की कमी के चलते हालात खराब हो रहे है।

रोज़ाना कई मरीज़ों की मौत भी हो रही है। ऑक्सीजन की कमी के चलते मरीज़ों को सआदत अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा रहा है। यहां तक कि अब नए कोरोना मरीज़ों को भी अस्पताल में भर्ती नही किया जाएगा। जानकारी के अनुसार बुधवार को अचानक आए ऑक्सीजन के संकट के चलते टोंक सआदत अस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती करीब 2 दर्जन से अधिक मरीज़ों को डिस्चार्ज कर दिया।

डिसचार्ज के बाद कोरोना मरीजो के परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा। कई परिजनों ने अस्पताल में हंगामा खड़ा कर दिया। हंगामे की सूचना पर मोके पर तीन पुलिस थानों के जाब्ता व एडिशनल एएपी, डिप्टी सहित कई ज़िला प्रशासन के अधिकारी पहुचे।परिजनों का आरोप है कि चिकित्सको द्वारा जबरन कोविड मरीज़ों को डिस्चार्ज कर दिया जा रहा है, जबकि कई मरीज़ों की स्थित गंभीर है,चिकित्सक उन्हें कहीं और भर्ती करवाने की बात परिजनों से कह रहे है।

चिकित्सक परिजनों को ऑक्सीजन की कमी बताकर अस्पताल से रवाना कर रहे है। वही दूसरी और सआदत अस्पताल पीएमओ नविंद्र पाठक का कहना है कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी आ रही है, जिन कोविड मरीज़ों की ऑक्सीजन लेबल सही आ रहा है उन्हें डिस्चार्ज किया जा रहा है।

समस्या को लेकर कलक्टर को भी अवगत कराया गया है। कलक्टर ने उच्चधिकारियो से बात कर 60 ऑक्सीजन सिलेंडर जयपुर से मंगवाए है। जो रात में आ जाएंगे। वो भी गुरुवार दोपहर तक समाप्त हो जाएंगे।

 

नए मरीज़ों को भी फिलहाल भर्ती नही किया जा रहा है। दरअसल टोंक जिले में लगातार कोरोना के 100 से ऊपर मामले रोज़ाना सामने आ रहे है। अस्पताल में 30 मरीज ऑक्सीजन पर है।

आज 178 नए कोरोना संक्रमित

बुधवार को भी 178 नए कोरोना मरीज़ सामने आए है। अब ज़िले में कुल एक्टिव केस 18 सो 43 हो गए है, वही अस्पताल में अभी 117 कोरोना मरीज़ भर्ती है।

इनमे से 30 मरीज़ ऑक्सीजन व 4 आई सीयू में है। होम इसोलेशन में 17 सो 26 है। वही आज कोरोना से 3 लोगों की मौत चिकित्सा विभाग की और से बताई गई है। अब तक ज़िले में कोरोना से 46 मौतें हो चुकी है।

Previous articleभीलवाड़ा में निजी अस्पतालों में कितने रेमेडीसिविर इंजेक्शन
Next articleभीलवाड़ा में कोरोना बेकाबू,आज 13 की मौत, दो दिन मे 28 मरे
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।