टोंक कलक्टर ने किया अस्पताल का निरीक्षण, 40 का स्टॉफ नदारद मिला, कोई कार्रवाई नही

Tonk News (फ़िरोज़ उस्मानी। दो दिन से टोंक सआदत व एमसीएच अस्पताल निरीक्षण में मिल रही खामियों के बाद भी अस्पताल प्रशासन इसमे सुधार लाने के लिए गंभीर नही है। वहीं दूसरी और दो दिन से अनुपस्थित मिल रहे अस्पताल स्टॉफ पर भी ज़िला प्रशासन कोई ठोस कार्रवाई अमल में नही ला रहा है। कुल …

टोंक कलक्टर ने किया अस्पताल का निरीक्षण, 40 का स्टॉफ नदारद मिला, कोई कार्रवाई नही Read More »

October 14, 2021 2:04 pm

Tonk News (फ़िरोज़ उस्मानी। दो दिन से टोंक सआदत व एमसीएच अस्पताल निरीक्षण में मिल रही खामियों के बाद भी अस्पताल प्रशासन इसमे सुधार लाने के लिए गंभीर नही है। वहीं दूसरी और दो दिन से अनुपस्थित मिल रहे अस्पताल स्टॉफ पर भी ज़िला प्रशासन कोई ठोस कार्रवाई अमल में नही ला रहा है। कुल मिलाकर पूर्व डिप्टी सीएम व टोंक विधायक सचिन पायलट व जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल का अस्पताल औचक निरीक्षण केवल खानापूर्ति होता दिखाई दे रहा है।

टोंक ज़िला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल ने आज टोंक सआदत व एमसीएच अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान 40 स्टॉफ कर्मचारी अनुपस्थित मिले। हैरत की बात ये थी कि सभी अनुपस्थित कर्मचारियों के रजिस्टर में उपस्थिति दर्ज थी। बावजूद इसके कर्मचारी अस्पताल में मौजूद नही मिले।

जनाना अस्पताल में कई प्रसूताओं के परिजनों ने अस्पताल चिकित्सको पर गंभीर आरोप भी लगाए। कलक्टर के सामने ही चिकित्सक व प्रसूताओं के परिजनों में काफी देर तक बहस होती रही। मरीज़ों के परिजन चिकित्सकों पर लापरवाही समेत कई गंभीर आरोप लगाते दिखाई दिए।

अस्पताल में मौजूद एक मरीज़ के परिजन रामबिलास गुर्जर निवासी हाथोना ने बताया कि वो अपने बच्चे को दिखाने के लिए पिछले 2 घंटे से इंतज़ार कर रहा है, मरीज़ों की लाइन लगी हुई है, बावजूद इसके चिकित्सक ड्यूटी पर मौजूद नही है। इसी तरह खुशीराम किशोर निवासी निवाई से अपनी पत्नी के इलाज के लिए आया था, इलाज के दौरान चिकित्सक ने उसकी पत्नी के हाथ पर गलत तरीके से इंजेक्शन लगा दिया, जिसके चलते उसके हाथ मे बहुत दर्द है।

चिकित्सक को बताने पर कहीं और दिखाने की बात बोली जा रही है। इस दौरान अस्पताल में सफाई व्यवस्था पर भी कलेक्टर ने सवाल खड़े किए।

 

कलेक्टर ने सीएमएचओ अशोक कुमार व पीएमओ खेमराज बंशीवाल से सआदत अस्पताल कार्यालय का फिडबेक लिया।अस्पताल में सफाई व्यवस्था, चिकित्सको की ड्यूटी व संसाधनों की बहुत बड़ी खामियां भी दिखाई दी। कई अव्यवस्थाएं मिलने के बाद भी ज़िला कलक्टर अस्पताल प्रशासन पर कोई ठोस कार्रवाई करने से बचती दिखाई दी

चिकित्सको पर कार्रवाई के लिए मीडिया के सवालों से भी बचती दिखाई दी। कुल मिलाकर ज़िला कलेक्टर का अस्पताल निरीक्षण केवल खानापूर्ति ही दिखाई दिया।

अंत मे कलेक्टर ने अस्पताल प्रशासन को अस्पताल में व्यव्यस्थाओं को सुधार लाने के आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जल्द से जल्द अस्पताल की बिगड़ी स्थिति में सुधार की बात कही। इस मौके पर टोंक एडीएम मुरारीलाल शर्मा, एसडीएम नित्या के, सीएमएचओ अशोक कुमार यादव व पीएमओ खेमराज बंशीलाल

Prev Post

पिछले 65 वर्षों से भूमि आवंटन को तरसता देवली का राजकीय यूनानी दवाखाना, पालिका भवनों में संचालित

Next Post

जोगणिया माता जा रहे 4 जातरूओं को कार ने लिया चपेट में 3 की मौत

Related Post

Latest News

गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS 
राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर

Trending News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know

Top News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS 
राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर
बच्चियों को कहा मत दो वोट,पाकिस्तान चली जाओ -IAS हरजोत कौर
राजस्थान शिक्षा विभाग- घोटालेबाज बाबू डेढ माह से नही आ रहा ड्यूटी पर लापता, DEO बचा रहे है या... ?
राजस्थान शिक्षा विभाग- लाखों का घोटाला फिर भी अब तक दोषी प्रिंसिपल पर कार्यवाही क्यो ?
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know