टोंक राजस्थान

टोंक महोत्सव का भव्य हुआ आगाज,नवाब अमीर खां के जीवन पर डाली रोशनी

टोंक। जिला प्रशासन, टोंक महोत्सव समिति और अंजुमन सोसायटी खानदान-ए-अमीरिया की ओर से टोंक महोत्सव का आगाज मंगलवार को अरबी फारसी शोध संस्थान के सभागार में भव्य रूप में हुआ। महोत्सव की शुरुआत अतिथियों ने फीता काटकर की। इसके बाद आयोजित समारोह में विभिन्न कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई।

वक्ताओं ने टोंक रियासत के प्रथम नवाब अमीरुदैला अमीर खां की बहादुरी, रियासत में उनके कराए गए विकास कार्य और नवाबी दौर से अब तक चली आ रही गंगा-जमुनी तहजीब पर रोशनी डाली। सोसायटी के प्रवक्ता जुनेद असलम ने बताया कि समारोह में मुख्य अतिथि कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष व पूर्व जिला प्रमुख रामबिलास चौधरी थे।

समारोह को सम्बोधित करते हुए पूर्व जिलाध्यक्ष रामबिलास चौधरी ने कहा कि नवाबों का दौर तो नहीं देखा, लेकिन रियासत की जनता के प्रति उनकी सेवा के बारे में बहुत सुना है। उन्होंने एक वाकया सुनाया कि नवाबी रियासत में एक बार अकाल पड़ गया। लोगों के पास खाने के लिए अनाज कम पड़ गया। उन्होंने अपने गांव हाडीखुर्द का हवाला दिया कि उनके गांव के बुजुर्ग कहते हैं कि जब गांव के लोग नवाब के पास पहुंचे तो उन्होंने उन्हें खाली हाथ नहीं भेजा और अनाज दिया। रामबिलास ने कहा कि भले ही आज युग बदल गया हो, लेकिन टोंक की गंगा-जमुनी तहजीब आज भी जिंदा है, जिसकी मिसाल दी जाती है।

समारोह की अध्यक्षता टोंक नवाब आफताब अली खां ने की। विशिष्ट अतिथि खानदान-ए-अमीरिया सोसायटी सदर यूनुस खां, सेफुल्लाह खां, राउमा विद्यालय के प्रधानाचार्य शंकर शंभू, सादिक अली, मुमताज राही, एडवोकेट मजहर आलम, मेहबूब उस्मानी थे। 

समारोह के दौरान युवाओं ने विभिन्न प्रस्तुतियां दी। प्रेरणा गु्रप की रेखा जाजू ने बलात्कार को लेकर जागरूकता की बात की। वहीं युवाओं की टीम ने बलात्कार रोकने और जागरूकता पर बनाए गए गीत मेरी अपील का प्रस्तुतिकरण दिया। युवा गायक मयंक राव ने मांड प्रस्तुत की। जब उन्होंने केसरिया बालम आओ नी, गाया तो लोगों ने तालियां बजानी शुरू कर दी।

भारतवर्ष का साइकिल पर भ्रमण कर रही 63 साल की रोहतक हरियाणा निवासी कमलेश राना व विकास ने टोंक महोत्सव में साइकिल और स्वास्थ को लेकर लोगों को जागरूक किया। व्याख्याता ममता चौधरी ने दोस्ती से पाकिजा कोई बंधन ने कविता प्रस्तुत की। वहीं ममता व शशिकला साहू ने भजन और स्वागत गीत भी प्रस्तुत किया। इससे पहले कोठी नातामाम के स्काउट गाइड ने भी प्रस्तुतियां दी। सोसायटी की ओर से नवाब आफता अली ने रेखा जाजू और कमलेश राना को शॉल ओढ़ाकर सम्मान किया। 

सोसायटी महासचिव साहबजादा हामिद अली खां ने बताया कि समरोह का संचालन रियाज राना व अब्दुल मुनीम खां ने किया। इस दौरान अनवर अली बबली, अब्दुल वसी, अरशद खान, जमील उर्फ जम्मू, मुमताज उस्मानी, राशिद नकवी, राजेश चंदेल, बैणीप्रसाद सोनी, आलिया, शहजाद कायमखानी, नन्हे खां, सुरेश पाल, उपप्रधानाचार्य ममता यादव, निधि शर्मा, शबनम, ममता मीणा, मोनिका शर्मा, सीमा तोगड़ा आदि मौजूद थे।

प्रवक्ता जुनेद असलम ने बताया कि शाम को गांधी खेल मैदान में फुटबॉल हुआ। वहीं 16 नवम्बर को एयर राइफल प्रतियोगिता, चारबैत, 17 को वाद-विवाद प्रतियोगिता, लॉन टेनिस, सांस्कृति संध्या, 18 को बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता, अखिल भारतीय कवि सम्मेलन, 19 को अंतरराष्ट्रीय सेमिनार, कुश्ती, ऑल इंडिया मुशायरा, 20 को बॉक्सिंग प्रतियोगिता, शाम-ए-गजल तथा 21 नवम्बर को पुरस्कार वितरण और समापन समारोह अरबी फारसी शोध संस्थान में होगा।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/