Tonk Animal Husbandry Department alert about lumpy skin disease at turn
टोंक राजस्थान

टोंक पशुपालन विभाग अलर्ट मोड़ पर लम्पी स्किन डिजीज को लेकर

टोंक । राजस्थान में लम्पी स्किन डिजिज ( lumpy skin disease ) के रोग प्रकोप को देखते हुए टोंक जिले में लम्पी स्किन डिजिज के प्रसार को रोकने के लिए पशुपालन विभाग,टोंक ने सभी आवश्यक तैयारी कर ली है। संभावित रोग प्रकोप की स्थिति पर पशुपालन विभाग पूर्ण रूप से नजऱ बनाए हुए है। जिले के पशुपालन विभाग के उप निदेशक डॉ.अशोक कुमार पाण्डे ने बताया कि इस बीमारी को देखते हुए जिला एवं ब्लॉक स्तर पर रोग सर्वेक्षण, रोग निदान एवं इसके उपचार तथा रोकथाम के लिए त्वरित कार्यवाही दलो (आर.आर.टी) का गठन कर दिया गया है।

साथ ही विभाग के सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देशित किया गया है कि वे पशुपालकों, गौशाला प्रबन्धकों व अन्य स्टेकहोल्डर्स को रोग के लक्षण इसके सामान्य घरेलू उपचार, जैव सुरक्षा उपायो आदि को अपनाने तथा रोगी पशुओं को आईसोलेट करने तथा पशुओं के आवागमन को निषिद्ध करने के लिए जागरूक करें।

उप निदेशक ने पशुपालकों, गौशाला प्रबन्धकों एवं आमजन से अपील की है कि वे अपने पशुघरो, गौशालाओं में जैव सुरक्षा के उपाय करें। रोगी पशुओं को स्वस्थ्य पशुओं से अलग रखें तथा पशुओं के आवागमन को निषिद्व करें। किसी भी रोग के कारण मृत पशुओं के शव को वैज्ञानिक विधि यथा गडडा खुदवाकर चुना एवं नमक के साथ दफनाए ताकि किसी रोग संक्रमण को नियंत्रित करने में मदद मिल सके। सभी पशुपालक एवं गौशाला प्रबन्धक पशुओं में बीमारी के लक्षण दिखने पर तुरंत नज़दीकी पशु चिकित्सा संस्था में सम्पर्क करें।

टोंक शहर में उच्च क्षमता का कैमरा हुआ स्थापित

टोंक। टोंक शहर में नागरिक सुरक्षा की दृष्टि एवं अपराध नियंत्रण के लिए अभय कमाण्ड परियोजना के तहत 161 सीसी टीवी कैमरे विभिन्न स्थानों पर स्थापित किए गए है। इसके अतिरिक्त सूचना पौद्योगिकी और संचार विभाग के माध्यम से उच्च क्षमता का पीटीजेड शहर में कैमरा स्थापित किया गया है।

सूचना पौद्योगिकी और संचार विभाग के संयुक्त निदेषक देवेन्द्र माथुर ने बताया कि पीटीजेड कैमरे की क्षमता उच्च स्तरीय है, जिसको लंबी दूरी से भी जूम करने की क्षमता है। 200-300 मीटर दूरी के वाहनों की नम्बर प्लेट भी इस कैमरे के माध्यम से आसानी से पढ़ी जा सकती है एवं पुलिस विभाग को इस कैमरे से कानून व्यवस्था एवं अपराध नियंत्रण में सहयोग मिल सकेगा।

घरेलू गैस के व्यवसायिक उपयोग करने पर 17 गैस सिलेण्डर जब्त

टोंक। जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल के निर्देशानुसार जिले में घरेलू गैस के व्यवसायिक उपयोग करने के विरूद्ध गुरूवार को कार्यवाहक जिला रसद अधिकारी रामभजन मीणा एवं प्रवर्तन निरीक्षक सुरजभान सिंह द्वारा छावनी चौराहा पर स्थित राजेश मिष्ठान भंडार से 9 घरेलू गैस सिलेण्डर एक रेगुलेटर एवं एक गैस चूल्हा जब्त किया है एवं नेशनल हाईवे स्थित आस्था फैमिली रेस्टोरेन्ट से 8 घरेलू गैस सिलेण्डर जब्त किये गये है।

जिला कलेक्टर ने सख्त निर्देश दिये है कि कहीं पर भी घरेलू गैस सिलेण्डरों का व्यवसायिक कार्यो में दुरूपयोग नहीं होना चाहिए तथा दुरुपयोग करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। जिला रसद अधिकारी ने बताया कि जब्तशुदा को 17 सिलेण्डर में 10 सिलेण्डर एक कम्पनी के तथा 7 सिलेण्डर दूसरी कम्पनी के है।

यह सिलेण्डर जब्त कर गैस एजेन्सी को सुपुर्द किये गये है एवं दुरुपयोग करने वालों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 6 ए के तहत अग्रिम कार्यवाही की जाएगी।

Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.