,vasundhra raje,ajit singh mehta ,
टोंक राजनीति

सबसे लोक प्रिय नेता के रूप में उबरकर सामने आए है, टोंक विधायक अजीत सिंह मेहता

टोंक विधानसभा क्षैत्र में कराए 18 सौ करोड़ रूपयां के विकासपूर्ण कार्य
आमजन से किए वादे निभाएं

 

टोंक, (फिरोज़ उस्मानी)। जब भी चुनावी दौर शुरू होता है, टोंक विधानसभा क्षेत्र में स्थानीय का मुद्दा हमेशा से उठता रहा है। पिछली बार भाजपा ने इस पर पहल करते हुए टोंक विधानसभा क्षेत्र से विधायक के रूप में अजीत सिंह मेहता पर भरोसा जताया। इस पर अजीत सिंह मेहता खरे उतरे है। जीत के बाद विधायक अजीत सिंह मेहता जनता के बीच रहकर अपनी अच्छी छवि बनाने में काफी हद तक कामयाब भी रहे है। आमजन से किए विकास के सभी वादे बखूबी निभाएं है। पिछले साढ़े चार सालों में टोंक विधानसभा क्षैत्र में लगभग 18 सौ करोड़ रूपयां के विकासपूर्ण किए गए है। इसके चलते टोंक विधायक अजीत सिंह मेहता जिले के तीन अन्य भाजपा विधायकों में सबसे लोक प्रिय नेता के रूप में उबरकर सामने आए है।

24 घटें खुले रहते फरीयादी के लिए द्वार

भाजपा से अजीत सिंह मेहता 2013 में कांग्रेस की जकिया इनाम को भारी मतों से हराकर एतिहासिक जीत हासिल कर टोंक विधायक बने। मेहता ने स्थानीय होने के चलते जनता के बीच रहकर उनकी समस्याओं को गंभीरता से लिया है। आमजन की मूलभूत समस्याओं के साथ ही शिक्षा के क्षैत्र में उनके द्वारा किए कार्य अभूतपूर्व रहे है। चौबीसों घण्टें विधायक मेहता के घर के दरवाजे फरीयादी के लिए खुले रहते है। छोटी से लेकर बड़ी से बड़ी समस्याओं के निराकरण के लिए मेहता हमेशा तत्पर रहते है।

बिगडऩे नही दिया शहर का सौहार्दपूर्ण वातावरण

टोंक गंगा-जमुनी तहजीब का शहर रहा है, बावजूद इसके कई बार इसको बिगाडऩे का कार्य भी किया जाता रहा है। लेकिन विधायक मेहता के प्रयासों से ऐसी घटनाओं पर लगाम लगी है। इसका जीता जागता उदाहरण हाल ही में हिन्दु नववर्ष पर बड़ा कुआं क्षैत्र में दो समुदायों के बीच हुए विवाद के बाद शहर में अफरा तफरी का माहौल हो गया। मेहता के प्रयासों ने मामले को तूल पकडऩे नही दिया। दोनों पक्षों को समझाईश के बाद मामले को सुलझा लिया गया।

पिछले चार की उपलब्धियॉ

पिछले चार वर्षो में मेहता के विधानसभा क्षैत्र में कई विकासपूर्ण कार्य किए गए। इसमें सार्वजनीक निर्माण विभाग की विभाग विभिन्न योजना अन्तर्गत सडक़ निर्माण कार्य में 237.73 करोड़, सार्वजनीक निमार्ण विभाग में भवन निर्माण कार्य 34.55 करोड़, चिकित्सा एंव स्वास्थ्य विभाग 91.71 करोड़, पीएचईडी विभाग 52.90 करोड़, टोंक उनियारा -देवली बीसलपुर परियोजना 542.11 करोड़, शिक्षा विभाग ) 9.40 करोड़, एमएसडीपी योजना 4.92 करोड़, कृषि विभाग 6.36 करोड़, पशु पालन विभाग 1.88 करोड़, कृषि विपरण बोर्ड 24.99 करोड़, खण्ड तृतीय बीसलपुर परियोजना देवली 11.27 करोड़, जल संसाधन विभाग 85.57 करोड़, विद्युत विभाग 54.59 करोड़, कार्यालय पंचायत समिति टोंक 46.82 करोड़, कार्यालय पचंायत समिति टोडारायसिंह 16.06 करोड़, नगर परिषद 30.91 करोड़, मुख्यमंत्री जलस्वावलम्बन अभियान शहरी 0.40, मुख्यमंत्री जलस्वावलम्बन अभियान ग्रामीण द्वितीय चरण 4.10 करोड़, टोंक जिला मुख्यालय पर सीवरेज योजना 388.00 करोड़, अटल अमृत योजना 55.00 करोड़, टोंक जिला मुख्यालय पर खेल स्टेडियम 0.50, टोंक जिला मुख्यालय पर सैनिक विश्राम गृह 0.60, श्रम विभाग द्वारा श्रमिक कार्ड योजना के लाभार्थियों को वितरित राशि 14.47 करोड़, सामाजिक न्याय एंव अधिकारिता विभाग द्वारा लाभार्थियों को वितरित राशि 63.23करोड़ , विधायक कोष से व्यय राशि 8.97 करोड़ व सांसद कोष व्यय राशि 1.68 करोड़ खर्च किए गए है।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *