टोंक

खेत में कीटनाशक दवाई छिड़कने के दौरान घायल हुए किसान ने 4 दिन बाद इलाज के दौरान जयपुर एसएमएस अस्पताल में तोड़ा दम

अलीगढ़ / उनियारा, (शिवराज मीना)। उपखण्ड के सोप थाना क्षैत्र के सोप में दुसरे के उडद के खेत में सोमवार को मजदुरी से कीटनाशक पावडर का छिड़काव करने गये किसान की जयपुर के एसएमएस अस्पताल में चल रहे इलाज के दौरान 4 दिन बाद गुरुवार को मौत हो गई।


जानकारी के अनुसार सोप के गोरीलाल धाकड़ के खेत पर मजदूरी से पाउडर के छिड़काव के दौरान सांस से पाऊडर नाक व मुंह में जाने से सोप कस्बा निवासी श्योजीलाल धाकड का छोटा भाई शंकरलाल धाकड़ बेहोश हो गया। जिससे घायल शंकरलाल धाकड उड़द के खेत में पुरी रातभर बैहोशी की हालात में पड़ा रहा। मंगलवार दोपहर को जब आसपास खेतों में काम कर रहे किसानो को खेत पर एक युवक बैहोशी हालत में पड़ा हुआ दिखाई देने पर किसानों ने परिजनो को सूचना देकर बुला लिया।

जिसके चलते परिजन घायल युवक को मंगलवार दोपहर को सवाई माधोपुर चिकित्सालय लेकर पहुंचे। जानकारी पर बताया जा रहा हैं कि कीटनाशक स्प्रे के दौरान सांस द्वारा कीटनाशक उनके शरीर के भीतर चला गया जिसके चलते उसके शारिरिक तंत्र पर असर हुआ और वह आनन-फानन में खेत से बाहर निकल आया। इस दौरान कीटनाशक के प्रभाव से बेहोश हो गया। सूचना मिलने पर परिजन आये और उसे सवाई माधोपुर चिकित्सालय लेकर गये।

जहाँ उपचार के दौरान उनकी हालत में कुछ सुधार नही होने पर चिकित्सकों ने मंगलवार देर शाम को घायल युवक को जयपुर रेफर कर दिया। परिजन घायल को जयपुर के महात्मा गांधी अस्पताल ले गए, जहां पर भी उसकी तबीयत में सुधार नहीं हुआ तो उसे वहां से भी उसे सवाई मानसिंह अस्पताल में ले जाकर भर्ती कराया।

जहां पर 4 दिन के इलाज के दौरान घायल शंकरलाल की गुरुवार 30 अगस्त को तडके रात्रि 3 बजे मौत हो गई। पोस्टमार्टम के बाद अस्पताल प्रशासन ने शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया। जिसका गुरुवार दोपहर को अपने गांव सोप में दाह संस्कार कर दिया।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *