टोंक राजस्थान

शिक्षक संघ प्रगतिशील ने धरना देकर किया प्रदर्शन

टोंक। राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील जिला टोंक ने शुक्रवार को प्रदेश संगठन के आव्हान पर कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष जसवंत सिंह के नेतृत्व में एक दिवसीय विशाल धरना प्रदर्शन कर जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया गया।जिलाध्यक्ष धनराज सिंह राजावत ने बताया कि राज्य सरकार का 4 वर्ष का कार्यकाल पूर्ण होने जा रहा है एवं पूर्व की सरकारों ने भी तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण नहीं किए थे इससे उक्त शिक्षकों में भयंकर आक्रोश व्याप्त है सत्ता में आने से पूर्व कांग्रेस जन घोषणा पत्र 2018 में वायदा किया गया था कि कांग्रेस सत्ता में आने पर तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण किये जायेंगे।

संगठन द्वारा पूर्व में कई बार निवेदन करने के बावजूद भी शिक्षकों के स्थानांतरण नहीं किए जा रहे हैं जबकि अन्य द्वितीय श्रेणी से लगाकर प्रधानाचार्य तक के सभी वर्गों के स्थानांतरण बहुत बड़ी संख्या में हो रहे हैं अत: संगठन आज दिनांक 14 अक्टूबर 2022 को जिला कलेक्टर कार्यालय द्वारा विशाल धरना प्रदर्शन कर मांग करता है कि अतिशीघ्र शिक्षकों के स्थानांतरण किये जावे ।

यदि समय रहते शिक्षकों की स्थानांतरण प्रक्रिया प्रारम्भ नही की गई तो संगठन जयपुर में विशाल रैली व धरना प्रदर्शन करेगा जिसकी जिम्मेदारी राज्य सरकार की रहेगी जिलामंत्री हंसराज चौधरी ने बताया कि राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील पिछले 4 वर्षों से शिक्षा शिक्षार्थियों एवम शिक्षक समस्याओं के समाधान हेतु लगातार प्रयास कर रहा है लेकिन राज्य सरकार एवं शिक्षा विभाग द्वारा समस्याओं के निराकरण बाबत सकारात्मक निर्णय नहीं लेने के कारण राजस्थान के आम शिक्षकों में राज्य सरकार के प्रति आक्रोश निराशा के भाव पैदा हुए हैं ।

कर्मचारी संयुक्त महासंघ जिला अध्यक्ष रामनारायण चौधरी ने बताया कि हमारी प्रमुख मांगे निम्नानुसार है तृतीय श्रेणी शिक्षकों की स्थानांतरण अभिलंब प्रारंभ किए जावे, राजस्थान के कार्मिकों के लिए समान काम समान वेतन की नीति लागू की जाए, पारदर्शी स्थाई शिक्षक स्थानांतरण व पदस्थापन नियम जारी करने के बाद ही स्थानांतरण प्रक्रिया प्रारंभ की जाए एवं डिजायर आधारित स्थानांतरित उद्योग को पूर्णतया समाप्त किया जावे ,एनपीएस फंड की राशि शिक्षकों के जीपीएफ खातों में जमा की जाए एवं 6 सितंबर 2022 की वसूली के आदेश को प्रत्याहारित किया जाए, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए माध्यमिक शिक्षा में स्टाफिंग पैटर्न वर्तमान नामांकन को आधार मानकर करवाया जाए एवं माध्यमिक शिक्षा /प्रारंभिक शिक्षा में स्टाफिंग पैटर्न की समीक्षा कर नामांकन के आधार पर पद बढ़ाया जाए ,तृतीय श्रेणी,द्वितीय श्रेणी एवं व्याख्याताओं की वेतन विसंगति दूर की जाए ,पीढ़ी हेड के शिक्षकों के वेतन आहरण के अधिकार पी ई ई ओ को दिए जाएं एवं बजट एकमुश्त जारी किया जावे सहित अन्य मांगों को पूरा किया जाए।

तहसील अध्यक्ष टोंक राजाराम ने बताया कि टोंक जिले मे पिछले 6 महीने से पोषाहार राशि व 9 माह से कुक कम हेल्पर का वेतन बकाया चल रहा है जिसके कारण में हस्तांतरित की जाए । इस दौरान भवानी शंकर निराला,रामदेव तोगडॉ, राजाराम जाट ,राजेश परोटा, बलवंत चौधरी ,नन्द किशोर शर्मा,गोपाल चौधरी, हरिराज मीणा ,प्रेम मीणा ,रामकरण मीणा,रामकिशन बेतुके तुलसीराम मीणा ने अपने विचार रखे ।

धरना ,प्रदर्शन में ,रूपनारायण चौधरी, राजेन्द्र माली ,गिरिराज प्रसाद शर्मा, अशोक माली,सुरेश जैन,तुलसीराम जाट,धर्मचंद खटीक,जगदीश जाट,कन्हैया मीना,प्रेम चंद,राजसिंह नरुका,शिवजीराम जाट रामलाल जाट,हनुमान चौपड़ा, सूरज मल बलाई,मुकेश मीणा, हेमराज चौधरी, वैधनाथ जाट,मुकेश बैरागी,महावीर वर्मा,राजेन्द्र सिंह चौधरी, प्रधान चौधरी, सीताराम जाट,राजेश गुर्जर, प्रकाश जाट ,रईस अहमद,मनोहर मीणा, अब्दुल शब्बीर मंसूरी,भंवर लाल जाट आदि शिक्षक साथी मौजूद रहे।

Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.