शिक्षिकाओं को कोब्रा सांपों के ख़ौफ

Tonk News । टोंक जिले के टोडारायसिंह उपखंड मुख्यालय स्थित राजकीय कस्तूरबा बालिका आवासीय विद्यालय सुनसान पड़ा होने के चलते कोब्रा सांपों का खुली सैरगाह बना हुआ है । लॉक डाऊन के बाद से सभी छात्रायें इन दिनों अपने-अपने घरों पर हैं, लेकिन यहां तैनात छात्रावास प्रभारी व अन्य शिक्षिकाओं को कोब्रा सांपों के ख़ौफ …

शिक्षिकाओं को कोब्रा सांपों के ख़ौफ Read More »

July 13, 2020 5:03 pm

Tonk News टोंक जिले के टोडारायसिंह उपखंड मुख्यालय स्थित राजकीय कस्तूरबा बालिका आवासीय विद्यालय सुनसान पड़ा होने के चलते कोब्रा सांपों का खुली सैरगाह बना हुआ है । लॉक डाऊन के बाद से सभी छात्रायें इन दिनों अपने-अपने घरों पर हैं, लेकिन यहां तैनात छात्रावास प्रभारी व अन्य शिक्षिकाओं को कोब्रा सांपों के ख़ौफ के बीच रहना पड़ रहा है ।

रविवार आज सवेरे भी एक कोब्रा सांप के रैंगते हुए विद्यालय के बीच चौक में आ जाने व बाद में खाली पड़े कक्षा कक्ष में में घुस जाने से वहां मौजूद शिक्षिकायें घबरा गयीं । शिक्षिकाओं द्वारा इस मामले की जानकारी टोडारायिंह वन चौकी तो दी गई तो उनके द्वारा साधनों का अभाव बताते हुए इस पूरे मामले से पल्ला झाड़ लिया ।

बाद में वॉर्डन ममला सिंगोदिया द्वारा इस मामले की जानकारी जिला मुख्यालय स्थित शिक्षा विभाग के एडीपीसी ओम प्रकाश तोषनीवाल को दिये जाने के बाद उन्होंने वन्यजीव प्रेमी व सर्प संरक्षण के कार्य में जुटे मनोज तिवारी से इस मामले में मदद मांगी, जिस पर टोंक से टोडारायसिंह पहुंचे मनोज तिवारी नें कुछ ही देर में कोब्रा सांप को अपने स्नैक बेग में क़ैद कर लिया ।

इस दौरान शिक्षिका अर्चना चौधरी के अलावा सर्प संरक्षण अभियान में स्वैच्छिक रूप से जुटे बंशीधर अग्रवाल भी मौजूद रहे । विद्यालय की वॉर्डन ममता सिंगोदिया ने बताया कि यहां पिछले 15 दिनों में कोब्रा सांप के भवन के भीतर आ जाने की यह तीसरी घटना है, ऐसे  में उन्होंने प्रचलित मान्यताओं के अनुसार नाग देवता को मनाये जाने के लिये दूध पिलाने का प्रयास किया, लेकिन कोई बात नहीं बनी और कोब्रा सांप वहीं बैठा रहा ।

मनोज तिवारी ने बताया कि लोग पुरातन मान्यताओं के चलते विभिन्न अवसरों पर कोब्रा सांपों को मनाये जाने के लिये उनके सामने दूध का प्याला रखते चले आ रहे हैं, लेकिन शोध से यह साबित हो चूका है कि कोई भी सांप या वे सरीसृप जिनकी कि जिव्हा दो भागों में विभक्त होती है, वह किसी भी तरह के तरल पदार्थ का सेवन नहीं कर सकते हैं ।

मनोज तिवारी ने बताया कि कोब्रा सांप विश्व सर्वाधिक 10 ज़हरिली प्रजातियों में शामिल है ठसे में उसके दंश का शिकार हो जाने पर तुरंत नजदीकी अस्पताल पहुंच चिकित्सक की राय लेते हुए एंटी वेनम लगवाना चाहिये अन्यथा दंश पीडि़त की जान को ख़तरा हो सकता है ।

Prev Post

इम्यूनिट बूस्टर किट और दवाओ वितरण

Next Post

नाहरवाड़ी में वैश्यावृति में तीन युवतियों सहित पांच गिरफ्तार

Related Post

Latest News

पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप, परिवादी को ही कर रही है परेशान 
टोंक के बनेठा थाने का एसआई 10 हज़ार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, एक प्रकरण में कार्रवाई नही करने की एवज में मांग रहा था घूस
Rural Olympic Games - Innovative brilliant initiative of Bhilwara Collector Modi

Trending News

राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान
प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 

Top News

राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप, परिवादी को ही कर रही है परेशान 
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान
टोंक के बनेठा थाने का एसआई 10 हज़ार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, एक प्रकरण में कार्रवाई नही करने की एवज में मांग रहा था घूस
REET - 2022 का परीक्षा परिणाम घोषित 
राजस्थान में रहेगा गहलोत का ही राज, सचिन.. 
Rural Olympic Games - Innovative brilliant initiative of Bhilwara Collector Modi
राजस्थान में PFI पर शिकंजा कसने के कलेक्टर व एस पी को दिए अधिकार, पदाधिकारी भूमिगत
गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज