संविधान निर्माता भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर के विचारों को आत्मसात करने की जरूरत

Tonk। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वी जयंती वर्ष,आजादी के अमृत महोत्सव तथा भारत रत्न बाबा साहेब डॉ.भीमराव अंबेडकर जी की 130 वी जयंती समारोह के अवसर पर बुधवार को राज्य स्तरीय वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत(Chief Minister Ashok Gehlot) की अध्यक्षता में संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

गहलोत ने देश की एकता, अखंडता व समानता पर अपने विचार व्यक्त करते हुए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं बाबा साहेब डॉ.भीमराव अंबेडकर के जीवन से प्रेरणा लेकर उनके विचारों को अपने जीवन में आत्मसात करने के लिए प्रेरित किया।

जिला मुख्यालय पर भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केंद्र पर जिलाधिकारी, महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के जिला संयोजक, सह संयोजक एवं विभिन्न संगठनों, के पदाधिकारी इस वर्चुअल कार्यक्रम से जुड़े। जिला मुख्यालय पर अंबेडकर पार्क में स्थित बाबा साहेब की प्रतिमा पर जिला प्रशासन, विभिन्न समुदाय, संगठनों एवं समिति के लोगों ने माल्यार्पण कर अपने विचार व्यक्त किये ।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक नवल खान ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान अनुसूचित जाति/जनजाति के कल्याणार्थ कार्य करने वाले व्यक्तियों एवं संस्थाओं को राज्य स्तर पर अंबेडकर पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर जिले के होनहार छात्र रोहित बागड़ी पुत्र रमेश चंद खटीक निवासी लावा तहसील मालपुरा को डॉ. भीमराव अंबेडकर शिक्षा पुरस्कार योजनांतर्गत कक्षा दसवीं में अनुसूचित जाति वर्ग में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने पर जिला कलेक्टर चिनमयी गोपाल ने प्रशस्ति पत्र,मोमेंटो व 51 हजार का चेक प्रदान कर सम्मानित किया।

इस अवसर पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी नवनीत कुमार, अतिरिक्त जिला कलेक्टर मुरारी लाल शर्मा,उपनिदेशक महिला एवं बाल विकास विभाग डॉ धर्मवीर,महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के जिला संयोजक अनुराग गौतम, सह संयोजक सुनील बंसल, अनुसूचित जाति/जनजाति के कल्याणार्थ कार्य करने वाले व्यक्तियों संस्थाओं के प्रतिनिधियों में प्रेम नायक, अशोक बैरवा,मनिंद्र बैरवा,सीताराम सौदा, जहीर आलम, राहुल राजवंशी,शंकर महावर,मोहम्मद शाहिद, राजेश सिसोदिया आदि उपस्थित रहे।