रामद्वारा में रामकथा का आयोजन किया

व्यासपीठ अलंकृत संत कोमल रामज जी महाराज ने कहा कि विश्वामित्र के यज्ञ की रक्षा एवं अहिल्या उद्दार एवं राम विवाह

Sameer Ur Rehman
2 Min Read

टोंक। शहर के रामद्वारा में साध मंचमी महोत्सव एवं अयोध्या में नव-निर्मित मन्दिर में श्रीरामलला प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर 22 से 30 जनवरी तक श्रीरामद्वारा में श्रीमद् रामकथा का आयोजन किया जा रहा है। शुक्रवार को व्यासपीठ अलंकृत संत कोमल रामज जी महाराज ने कहा कि विश्वामित्र के यज्ञ की रक्षा एवं अहिल्या उद्दार एवं राम विवाह का प्रसंग सुनाया।

उन्होने कहा कि अहिल्या उद्दार भगवान श्रीराम प्रतीत को भी पावन करने वाले राम को प्रतीत पावन कहा जाता है। कथा के दौरान पूर्व जिला प्रमुख सत्यनारायण चौधरी, नवरतन विजय, हनुमान सिंह शेखावत, बद्री विजय एवं बाबूलाल विजय आदि ने रामचरित मानस का पूजन किया।

इस अवसर पर आयोजन के संरक्षक संत रामनिवास जी महाराज ने बताया कि रामकथा का आयोजन 30 जनवरी तक चलेगा। शनिवार को राम बनवास, केवट प्रसंग, राम-भरत मिलाप का प्रसंग सुनाया।

बडगुर्जर बने खटीक समाज के प्रदेश उपाध्यक्ष

टोंक । अखिल भारतीय खटीक समाज राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष कांति लाल चंदेल ने राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नानक चंद राजौरा, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव सिप्पी महेंद्रा, राष्ट्रीय महासचिव संगठन मनीराम पंवार की अनुमति से टोंक जिले के मालपुरा निवासी महावीर बडगुर्जर को प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया है ।

रामद्वारा में रामकथा का आयोजन किया
महावीर बडगुर्जर

बडगुर्जर को सामाजिक क्षेत्र में सेवा के कार्य प्रति रुचि देखते हुए यह जिम्मेदारी दी गई है। बडगुर्जर समाज में पूर्व युवा जिलाध्यक्ष व प्रदेश सचिव का दायित्व भी निर्वहन कर चुके है । बडगुर्जर वर्तमान में अखिल भारतीय परिसंघ के जिलाध्यक्ष भी है।

Share This Article
Follow:
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/