राजेन्द्र राठौड़ ने समझाई ERCP की ABCD, किसने की राजनीति

ERCP से 13 जिलों में 2 लाख 80 हजार हेक्टेयर में सिंचाई का सृजन होगा। टोंक जिले के मानसी, गलवा, टोरड़ीसागर में इस योजना के जरिए पानी की आवक होगी

Sameer Ur Rehman
4 Min Read

Tonk News।  टोंक में आज राजेंद्र राठौड़ ने ERCP को लेकर टोंक-सवाईमाधोपुर जिले के लिए होने वाले कार्यों को समझाया ।वहीं राजेंद्र राठौड़ ने कांग्रेस के आरोपों पर प्रहार किया। राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस क्यों भूल गई ERCP पर कमलनाथ ने 2020 में पत्र लिखकर आपत्ति जताई थी।

मध्यप्रदेश में उस वक्त कमलनाथ मुख्यमंत्री थे।वहां से उसकी रूकावट पैदा हुई। 2018 में इसकी आधारशिला रखने का काम वसुंधरा सरकार में किया था।राजेन्द्र राठौड़ ने समझाई ERCP की ABCD, किसने की राजनीति

गहलोत ने सर्वदलीय बैठक की तब मैंने नेता प्रतिपक्ष होते हुए इसको लेकर सवाल उठाए थे। सरकार बदली और एक बैठक अधिकारियों की हुई और दूसरी बैठक में दोनों मुख्यमंत्रियों ने बैठकर एक ही बैठक में MOU हो गया।

टोंक में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राठौड़ ने ERCP की ABCD समझाई…

टोंक में बीजेपी नेता राजेंद्र राठौड़ ने EPCP को लेकर प्रेस कांफ्रेंस की राठौड़ ने कहा कि एक नया सूरज उदय हुआ है।

ERCP का मॉडिफाइड रूप पार्वती, काली सिंध, चंबल लिंक, (पीकेसी प्लस) ERCP कल MOU मध्यप्रदेश और राजस्थान की सरकार के मध्य हुआ। भजनलाल सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि 13 जिलों की है। इन 13 जिलों में दो लाख से ज्यादा नया सीसीए एरिया खुलेगा। वही 13 जिलों में पीने के पानी का प्रबंध होगा।

13 जिलों में 2 लाख 80 हजार हेक्टेयर में

ERCP से 13 जिलों में 2 लाख 80 हजार हेक्टेयर में सिंचाई का सृजन होगा। टोंक जिले के मानसी, गलवा, टोरड़ीसागर में इस योजना के जरिए पानी की आवक होगी, वहीं सवाईमाधोपुर की डील, मूई, सूरवाल बांध में पानी आएगा।

सवाई माधोपुर में एक लाख 29 हजार हेक्टेयर टोंक में 37 हजार 513 हेक्टेयर भूमि में अतिरिक्त सिंचाई होगी।टोंक जिले में 112 एमसीएम पानी सवाईमाधोपुर में 71 एमसीएम पानी सिर्फ पेयजल के लिए उपलब्ध होगा।

सपना देखा था अटल बिहारी वाजपेई

यह ILR के तहत के प्रोजेक्ट भारत सरकार का 2004 के अंदर एक सपना देखा गया था अटल बिहारी वाजपेई ने जिसकी बुनियाद रखी थी। नदियों से नदियों जोड़ने की उसके तहत यह पहला प्रोजेक्ट है।

40 हजार करोड़ के इस प्रोजेक्ट में 90% पैसा केंद्र सरकार देगी और 10% पैसा मध्यप्रदेश और राजस्थान की सरकार देगी। इस योजना का डीपीआर बन रहा है। मूल EPCP के अंदर जो कुछ बांध बच गए थे।

उन बांधों को शामिल करते हुए 13 जिलों की बुनियादी मांग पीने का पानी उपलब्ध होने के साथ ही सिंचाई के लिए अतिरिक्त एरिया सृजन करेंगे।भजनलाल शर्मा को बधाई देने के लिए कार्य समिति में प्रस्ताव आएगा। हम सब लोग उसके साक्षी बनेंगे।

टोंक में रेल को लेकर

टोंक में रेल को लेकर राठौड़ ने कहा कि राजस्थान सरकार भूमि अधिग्रहण में रुचि दिखाती तो आज हम अगले स्टेज पर होते। लटकाने भटकाने वाले लोग हमसे सवाल कर रहे हैं। एक बार सर्वे हो गया अब निश्चित तौरपर पर रेल के मुद्दे पर हम आगे बढ़ेंगे।

सूर्य नमस्कार की अनिवार्यता

स्कूलों में सूर्य नमस्कार की अनिवार्यता पर भी राठौड़ ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कांग्रेस हर मुद्दे को संकीर्णन जरिए से देखती है।

 

 

Share This Article
Follow:
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/