टोंक

सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया की तलाश में पुलिस, गिरफ्तारी के लिए कोर्ट से वारंट लेने की तैयारी

टोंक (फ़िरोज़ उस्मानी)। टोंक सवाई माधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया के खिलाफ दंगा भड़काने व आपदा प्रबंधन महामारी अधिनियम के तहत दो मामलों में पुलिस को तलाश है। दोनों मामलों की जांच सीआईडी (सीबी) जयपुर में चल रही थी। अग्रिम कार्रवाई के लिए मालपुरा थाने में आई है। इसके बाद पुलिस हरकत में आ गई है। कई बार नोटिस देने के बाद भी सांसद की और से कोई जवाब नही दिया गया है, सांसद के ठिकानों पर भी पुलिस नोटिस चस्पा कर चुकी है। पुलिस सांसद के पीए को भी तलब कर चुकी है। इसके बाद अब पुलिस कोर्ट के ज़रिए वारंट लेने की तैयारी कर चुकी है।

आपदा प्रबंधन महामारी का मामला है दर्ज

मालपुरा थानाधिकारी कैलाश विश्नोई ने बताया कि 18 अगस्त 2020 को मालपुरा कस्बे में लॉकडॉउन का उलंघन करते हुए सांसद ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कार्यलय मालपुरा पर धरना दिया था। जिसको लेकर मालपुरा थाने में टोंक सवाई माधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया व टोडा- मालपुरा विधायक कन्हैया लाल चौधरी सहित 14 जनों पर आपदा प्रवंधन महामारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था। इस मामले में पांच जनों की जमानत हो चुकी है, सांसद व एमएलए सहित शेष 9 आरोपियों की तलाश है। अग्रिम कार्रवाई के लिए पुलिस कोर्ट के जरिये वारंट लेनी की तैयारी में है। इसके बाद सांसद की मुश्किलें और बढ़ सकती गई।

दंगा भड़काने का आरोप

इसी तरह टोंक सवाईमाधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया ने मालपुरा में तिरंगा यात्रा निकाली थी, उसी दौरान भड़काऊ भाषण के कारण दंगा भड़क गया था, जिसके कारण उनके खिलाफ 18 अगस्त 2018 में दंगा भड़काने का मामला दर्ज हुआ था। इसमें भी पुलिस को सांसद की तलाश है।

Firoz Usmani
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।