टोंक

पीपलू के मरीजों को नहीं जाना पड़ेगा टोंक-चिन्मयी गोपाल

Tonk। चिन्मयी गोपाल ने मंगलवार शाम को पीपलू सामुदायिक अस्पताल का निरीक्षण किया। जहां कोविड रीजों के उपचार सहित अन्य चिकित्सकीय व्यवस्थाओं का जायजा लिया। साथ ही सीएचसी प्रभारी डॉ. राअवतार माली को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस दौरान जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल ने बताया कि वर्तमान में कोविड मरीजों के उपचार को लेकर सीएचसी स्तर तक ही सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा हैं।

पीपलू सीएचसी पर वर्तमान में कोविड के 10 मरीजों के भर्ती होने की सुविधा हैं। जिसे 15 मई से बढ़ाकर 20 मरीजों के भर्ती होने तक का किया जाएगा। साथ ही यहां वर्तमान में 3 कंस्ट्रेटर हैं। वहीं 5 आक्सीजन कंस्ट्रेटर एवं 10 आक्सीजन सलैण्डर मय  रेगुलेटर बुधवार को मरीजों की सुविधा को लेकर यहां भिजवाएंगे।
जिला कलेक्टर ने बताया कि सरकार एवं विभाग की मंशा हैं कि पीपलू क्षेत्र के कोविड मरीज पीपलू में ही भर्ती हो जाएं, उन्हें सआदत अस्पताल या अन्य कहीं नहीं जाना पड़े। इसको लेकर धीरे-धीरे सभी व्यवस्थाओं में सुधार किया जा रहा हैं। हमारी पास जितनी व्यवस्थाएं हैं उस अनुरुप लगातार पीपलू सीएचसी पर सुविधाओं में बढ़ोतरी की जा रहा हैं।

इस दौरान जिला कलेक्टर ने पीपलू सीएचसी प्रभारी को वर्तमान जनरल वार्ड को परिसर के अन्य कमरों में शिफ्ट करने तथा जनरल वार्ड को कोविड वार्ड बनाने को लेकर दिशा निर्देश दिए। जिला कलेक्टर सीएचसी के बाद कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय स्थित क्वारंटीन सेंटर का भी निरीक्षण किया।

इस दौरान कोविड जिला प्रभारी आनंदीलाल वैष्णव, पीपलू एसडीएम प्राजंल कंवर, ब्लॉक सीएमएचओ कमलेश चावला, एनआरएचएम के जावेद अली, डिप्टी ताराचंद चैधरी आदि मौजूद रहे।

Firoz Usmani
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।