सांसद जौनापुरिया ने जिला कलेक्टर से कहा, अवैध बूचडखानों को तुरंत प्रभाव से जेसीबी से तोड़ें और संचालकों पर भी हो कठोर कार्रवाई 

Sameer Ur Rehman
3 Min Read

टोंक। शहर में संचालित अवैध बूचडख़ानों को तुरंत प्रभाव से जेसीबी से तोडऩे और उनके संचालकों पर कठोर कार्रवाई करने के लिए टोंक-सवाईमाधोपुर सांसद सुखबीरसिंह जौनापुरिया ने मंगलवार को जिला कलेक्टर डॉ. ओमप्रकाश बैरवा को कहा है। इसके बाद जिला कलेक्टर ने पुलिस अधीक्षक राजर्षिराज से वार्ता की और अवैध बूचडख़ानों पर जेसीबी चलाने की योजना बनाई है।

अवैध बूचडख़ाने सीज नहीं, इन पर बुल्डोजर चले 

शहर में संचालित अवैध बूचडख़ानों को हटाने के लिए अवैध बूचडख़ाने हटाओ समिति के सदस्यों ने दो दिन पहले टोंक सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरीया से मिले थे और अवैध बूचडखानों के बारे में विस्तार से बताया था।

समिति संयोजक विष्णु गुप्ता ने टोंक हाईवे पर बड़ी संख्या में अवैध बूचडख़ाने व टोंक शहर में अन्य जगहों पर चल रहे बूचडख़ानों को बंद करने के लिए कोर्ट के आदेशों के प्रतिलिपि सुखबीर सिंह को दी थी। इसे गंभीरता से लेते हुए सांसद सुखबीर सिंह ने मंगलवार को टोंक जिला कलेक्टर व टोंक एसपी के साथ बैठक ली।

इसमें सांसद सुखबीर सिंह के साथ अवैध बूचडख़ाने हटाओ समिति के संयोजक विष्णु गुप्ता, समिति के प्रवक्ता दुर्गेश गुप्ता व समिति से जुड़े अधिवक्ता विक्रम जैन, दुर्गा शंकर शर्मा, जिला प्रमुख सरोज बंसल, जिला अध्यक्ष राजेंद्र पराणा, पूर्व सभापति लक्ष्मी जैन, युवा मोर्चा के प्रदेश महामंत्री चंद्रवीर सिंह चौहान, जिला महामंत्री प्रभु बाड़ोलिया, जिला महामंत्री विष्णु शर्मा थे।

समिति प्रवक्ता दुर्गेश गुप्ता ने बताया कि सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया ने जिला कलेक्टर को लिखित में पत्र दिया देकर कहा गया कि शहर में चल रहे अवैध बूचडखानों को तुरंत प्रभाव से जेसीबी से ध्वस्त कर हटाया जाए। उनके आसपास उगे बंबूलों को हटाने के लिए व स्थाई पुलिस चौकी खोलने व अवैध काम कर रहे लोगों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए।

प्रवक्ता दुर्गेश गुप्ता ने कहा कि टोंक शहर से बड़ी संख्या में अवैध मांस की तस्करी हो रही है, उनमें इन अवैध बूचडखानों की बहुत बड़ी भूमिका है। इन पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। पूर्व सभापति लक्ष्मी जैन ने कहा कि उनके सभापति रहते हुए बहुत हद तक इन बूचडखानों पर अंकुश लगाया गया था, लेकिन गत चार वर्षों से शहर में बड़ी संख्या में अवैध बूचडखाने चल रहे हैं।

Share This Article
Follow:
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/