लोहारान समाज का 39 वां इज्तेमाई का शादी सम्मेलन सम्पन्न,शादी सम्मेलन में 122 नव-विवाहित जोड़ो का बनें हमसफ़र

Loharan society's 39th Ijtemai marriage conference ends, 122 newly married couples become partners in marriage conference

टोंक / नासिर खान ।कौम मुस्लिम आहनगरान (लोहरान) तिरेपन गौत जमात काठेडा वेलफैयर सोसाईटी के तत्वावधान में देवली रोड़ पर लोहारान समाज का 39 वां इज्तेमाई का शादी सम्मेलन में 122 नव-विवाहित जोड़ो का विवाह सम्पन्न हुआ ।

जिसमें राजस्थान के कई जिलों से आए दूल्हा दुल्हन ने अपने नए जीवन की शुरुआत की जिसमे लगभग 12 हजार से भी ज़्यादा समाज के व्यक्तियों ने हिस्सा लिया है।
जिसमें सभी हाजिरीन को भोजन कराया सम्मेलन में टोंक के मोअजिज लोगों ने शिरकत फरमाई।

सम्मेलन में शाही जामा मस्जिद के इमाम मौलवी खिजर साहब ने अपने खिताब के दौरान, फिजूल खर्ची रोकने और शिक्षा पर जोर दिया गया।

इसके अलावा रेल लाओ संघर्ष के अध्यक्ष अकबर खान, मेजर अनवर खान गणेश माहुर पूर्व सभापति, श्रीमति लक्ष्मी जैन पूर्व सभापति विक्रम सिंह गुर्जर, ने भी समाज सुधार और ऐसे सम्मेलन सभी कौमों को करने की सलाह दी और शिक्षा पर ध्यान करने की ज़रूरत है इसी के समाज के जिम्मेदार भी अपने कोम के लिए जागरूक देखे गए उन्होंने भी आव्हान किया कि बढ़ते नशे में मुब्तिला युवाओं को सीधे राह पर चलने के लिए आहवान किया।

इस मौके पर कोम मुस्लिम अहंगारान ( लोहार ) तिरेपन गौत जमात काठेडा वेलफेयर सोसाइटी व फोकस वेलफेयर एंड अजुकेशन सोसाइटी की जानिब से इस सम्मेलन में 100 जोड़े का निकाह सम्पन्न हुआ ।

इस सम्मेलन सदर सलीम भाई इंदोदा, मोहम्मद जावेद सम्मेलन सेकेट्री, मोहम्मदीन उर्फ बबलू सम्मेलन केशियर, कौम मुस्लिम आहगरान (लोहार) 53 गोत जमात का इज्तेमाई कमेटी के सदर रमज़ान खान जयपुर, हाजी सिराज भाई बैंक वाले, खजांची अख्तर भाई मेहंदवास वालो ने ये जानकारी देते हुए बताया कि 39 वा इजतेमाई शादी सम्मेलन तिरेपन गोत जमात काठेडा वेलफेयर सोसाइटी टोंक की जानिब यह सम्मेलन का आयोजन किया गया ।

जिसमे सरपरस्त हाजी इस्लाम जी चौहान सांगानेर, हाजी मोहम्मद रमजान खान चौहान जयपुर, हाजी सिराजुद्दीन खान अग्वां टोंक, अल्ताफ हुसैन अग्वान मेहंदवास की सरपरस्ती आयोजित हुआ ।

जिसमे सुबह 6 बजे से 8 बजे टी निकाह का आयोजन किया गया इसके बाद समाज के लोगो का भोजन कार्यक्रम कर दूल्हा दुल्हन को सम्मेलन कमेटी की ओर से विदाई दी गई ओर समाज के बुजुर्ग लोगों को साफा बांधकर सम्मान दिया गया । जिसमे दुल्हन वालो से 35 हजार रूपए ओर दूल्हा वालो से 25 हजार रूपए लिए गए जिसमे दूल्हा दुल्हन के बालिग सर्टिफिकेट दस्ता वेज के साथ ही इस शादी को अंजाम दिया गया ।