फसलों का बीमा कराने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर तक

PM crop insurance scheme

टोंक। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत रबी 2022-23 के लिये फसलों का बीमा कराने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2022 हैं। फसल बीमा के लिए एचडीएफसी एर्गो जनरल इंश्योरेंस कम्पनी लिमिटेड को निर्धारित किया है।

कृषि विभाग के उपनिदेशक राधेश्याम मीणा ने बताया कि विभिन्न बैंकों एवं सहकारी संस्थाओं द्वारा ऋणी किसान 31 दिसम्बर तक या फसल बुवाई के एक माह के भीतर अपनी फसल का बीमा कराकर योजना का लाभ ले सकते है।

साथ ही गैर-ऋणी कृषक अपनी फसलों का बीमा 31 दिसम्बर तक निकट के केंद्रीय सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक एवं वाणिज्यिक बैंक की शाखाओं तथा सीएससी के माध्यम से करा सकेंगे।

उपनिदेशक ने बताया कि इसके अतिरिक्त कृषक बीमा कम्पनी के बीमा एजेंट, मध्यस्थी, प्राधिकृत प्रतिनिधि अथवा राष्ट्रीय फसल बीमा पोर्टल के माध्यम से भी बीमा कराया जा सकता हैं।

उन्होंने बताया कि बीमा कराने के लिए किसान अपने आधार नम्बर व बैंक खाता संख्या संबंधित बैंक में प्रस्तुत करे। साथ ही फसल खराबे की सूचना बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर 18002660700 पर देना सुनिश्चित करे।

उपनिदेशक ने बताया कि खरीफ वर्ष 2020 से फसल बीमा को पूर्णतया स्वैच्छिक कर दिया गया है। ऋणी कृषक संबंधित बैंक में जाकर अंतिम तिथि से 7 दिन पूर्व बीमा नहीं कराने का घोषणा पत्र अवश्य प्रस्तुत करें घोषणा पत्र प्रस्तुत नहीं करने पर बैंक द्वारा प्रीमियम राशि काट ली जाएगी।

जिले के लिए अधिसूचित फसलें

उपनिदेशक ने बताया कि जिले में पटवार एवं तहसील स्तर पर फसलें अधिसूचित की गई हैं। तहसील देवली, मालपुरा, निवाई, टोडारायसिंह, टोंक, उनियारा एवं नगरफोर्ट के पटवार स्तर पर चना, सरसों व गेहूं को तथा तहसील दूनी व पीपलू में सरसों व गेहूं की फसल को अधिसूचित किया गया हैं।

उन्होंने बताया कि तहसील स्तर पर दूनी व पीपलू में चना, उनियारा व नगरफोर्ट में मसूर, टोंक व निवाई में जौ एवं मालपुरा में तारामीरा व जौ की फसल को अधिसूचित किया गया हैं।