टोंक

कोरोना की महामारी से देश प्रदेश को बचाने के लिए 5 साल के बच्चे ने रखा रोजा

देवली( विनोद धर्माणी )यू तो खुदा की इबादत और सजदे में लाखों सर झुकते हैं एवं अपनी मन्नत अदायगी की दुआ मांगते हैं ,लेकिन देवली शहर के 5 वर्ष केअल्तमश आलम s/o अल्ताफ हुसैन निवासी एजेंसी एरिया देवली ने पवित्र रमजान के महीने में 5 वर्ष की आयु में पहला पहला रोजा

रख कोरोना की इस महामारी के चलते हुए देश में प्रदेश को इस घातक बीमारी से छुटकारा पाने के लिए रोजा रखा , नगरपालिका देवली में कार्यरत होकर पिता अल्ताफ मुस्लिम समुदाय के होते हुए भी श्मशान में कोविड से अपनी जान गवा चुके।

मृतकों को अपने हाथों से अग्नि देकर उनका अंतिम संस्कार भी कर रहे हैं एवं शहर की बाजारों के साथ गलियों में घूमकर कोरोना की इस महामारी बचाव हेतु राज्य सरकार एवं प्रशासन की गाइडलाइन अनुसार अपनी सेवा के रूप में देते दिखाई देते हैं।

समाचार लिखे जाने तक जब बच्चे ने रोजा खोल कर इफ़्तयारी करने पर बैठे तब भी उनके पिता अल्ताफ नगर पालिका देवली कर्मचारी मोक्ष धाम पर किसी शव का अंतिम संस्कार कर रहे थे गौरतलब है कि पिछले दिनों कई समाचार पत्रों ने भी प्रमुखता से इनके नाम को प्रकाशित करते हुए उनके द्वारा किए जा रहे सराहनीय कार्यों की प्रशंसा की है।

Firoz Usmani
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।