जयपुर से घर लौट रही 17 वर्षीय छात्रा की दर्दनाक मौत 

जाम लगाये हुएं ग्रामीणों को समझाती पुलिस

पीपलू (ओपी शर्मा)।टोंक जिले के बरोनी थाना क्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्ग जयपुर कोटा पर शुक्रवार रात्रि गांव सोहेला के समीप 17 वर्षीय छात्रा की लोक परिवहन बस चालक की लापरवाही के चलते सही से बस को रोककर छात्रा को नही उतारने से पिछला टायर चढं गया व छात्रा की दर्दनाक मौत हो गई। यह खबर गांव में आग की तरह फैल गई और मौके पर काफी संख्या में भीड़ एकत्रित हो गई। वही समय पर पुलिस नही पहुचनें को लेकर भीड़ में काफी आक्रोश दिखाई दिया ।व हाईवे पर करीब ढाई घंटे तक जाम लगा दिया जिससे दोनो ओर वाहनो की लम्बी कतारें लग गई ।गांव वालों का कहना था कि आए दिन ऐसी दुर्घटना होती रहती है, इसलिए बस स्टैंड होना आवश्यक है । भीड़ मुआवजे की भी मांग करने लगी ।


फाईल फोटो -मृतक छात्रा

 

जाम की सूचना मिलते ही मौके पर टोंक पुलिस उपाधीक्षक चन्द्रसिंह रावत पीपलू पुलिस उपाधीक्षक ताराचंद जाट और बरौनी थाना प्रभारी कैलाश विश्नोई जाब्ता के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। घटनास्थल पर पहुंचने के बाद पुलिस उपाधीक्षक चन्द्रसिंह रावत लोगों को समझाने लगे। लोगों को समझाइश के बाद हाईवे का जाम खोला गया। बरौनी थाना प्रभारी कैलाश विश्नोई ने बताया की आरती पुत्री नारायण खटीक उम्र 17 वर्ष निवासी सोहेला राजस्थान मे दौड मे प्रथम रह चुकी हैं ।

 

कैंप जयपुर में शामिल होकर अपने गांव सोहेला वापस लौटते वक्त सोहेला के समीप हादसे का शिकार हो गई। दुर्घटनाा के बाद बस चालक मौके से फरार हो गयाइस दौरान देखते-देखते काफी भीड़ एकत्रित हो गई और हाईवे को जाम कर दिया हालांकि बाद में अधिकारियों की समझाइश के बाद हाईवे खोल दिया गया। वहीं पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर रात्रि को सहादत अस्पताल टोंक मुर्दाघर में रखवाया व शनिवार सुबह शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों के सौपा। वही बस को जप्त कर बस ड्राइवर के खिलाफ उक्त कार्रवाई की जा रही है।