इनाम 10 हज़ार का टॉप 10 अपराधी कालू गिरफ्तार, राज्य के करीब 6 दर्जन ज़िलों में लगभग 2 दर्जन संगीन मामलों में लिप्त

टोंक (फ़िरोज़ उस्मानी)। टोंक के मालपुरा पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पिछले 3 वर्षों से मालपुरा थाने का फरार हिस्ट्रीशीटर 10 हज़ार इनामी बदमाश कालू उर्फ अखेराज को गिरफ्तार किया है। इस बदमाश ने राज्य के करीब 6 दर्जन ज़िलों में लगभग 2 दर्जन डकैती व मर्डर सहित अन्य आपराधिक वारदातों को अंजाम दिया है।

जानकारी के अनुसार टोंक ज़िला पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश ने बताया कि वांछित अपराधियों की धरपकड़ के लिए एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत मालपुरा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश बेरवा व पुलिस उपाधीक्षक चक्रवर्ती सिंह राठौड़ के नेतृत्व में गठित टीम ने भवानी पूरा के जंगलों से हिस्ट्रीशीटर बदमाश कालू उर्फ अखेराज को गिरफ्तार किया है।

पकड़े गए बदमाश पर महानिरीक्षक पुलिस अजमेर रेंज अजमेर द्वारा 10 हज़ार का इनाम भी घोषित है। पकड़ा गया बदमाश कालू वर्ष 2011 से मालपुरा का हिस्ट्रीशीटर है। ये पिछले कई वर्षों से जंगलों में छिपकर फरारी काट रहा था। पकड़े गए बदमाश कालू ने थाना लांबाहरीसिंह के ग्राम मेहरू के एक शराब ठेके से चोरी व डिग्गी, टोडारायसिंह व पचेवर थानांतर्गत 10 चोरी व नकबजनी की वारदातें करना स्वीकारा है। पुलिस बदमाश से पूछताछ में जुटी है, ज़िले की कई संगीन वारदातें खुलने का अंदेशा है।

संगीन अपराधों में लिप्त

हार्डकॉर बदमाश कालू की बदमाशी का अंदाज़ा आप इसके 2 दर्जन डकैती मर्डर जैसे संगीन अपराधों से लगा सकते है। इसने टोंक ज़िला सहित अजमेर, जयपुर, सवाईमाधोपुर, नागौर, भीलवाड़ा ज़िलों में अपहरण, बलात्कार, चोरी, नकबजनी, लूट, हत्या, डकैती, आमर्स एक्ट व मर्डर जैसे संगीन धाराओं में 23 प्रकरण दर्ज है।

बचने के लिए जंगलों में रहता

बदमाश कालू की अजमेर रेंज स्तर पर टॉप 10 बदमाशों में गिनती आती है। इतना शातिर है कि पिछले कई वर्षों से पुलिस को चकमा दे रहा था, पुलिस लगातार इस पर दबिश देकर पकड़ने में लगी हुई थी। ये बार बार अपना स्थान बदल लेता था, पुलिस से बचने के लिए वो अधिकतर समय पहाड़ो व जंगलों में छिपकर रहता था।

मालपुरा गठित टीम ने पकड़ा

इस बदमाश को पकड़ने के लिए पुलिस की गठित टीम ने दिन रात एक कर दिए। मालपुरा थानाधिकारी गोपाल सिंह, हेडकांस्टेबल भारतसिंह व कांस्टेबल गंगदेव, कपील, मेहराम, धर्मराज, दिनेश, मो इस्माईल, अब्दुल वहाब व राजेश गुर्जर का योगदान रहा है। इसके साथ ही अपराधी का पता लगाने में मालपुरा थाना कांस्टेबल गंगदेव की विशेष भूमिका रही है। जिसको ज़िला स्तर पर विशेष पारितोषिक दिया जाएगा।

Previous articleपेयजल व विद्युत सप्लाई के कार्यों में गति लायें – डाॅ. गर्ग
Next articleThe makers lost crores due to the collapse of the set of Salman Khan’s upcoming film ‘Tiger 3’
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।