टोंक

फिर से आवारा कुत्तों के हमले से मादा हिरणी हुई घायल

सूचना के बाद भी मौके पर नहीं पहुंचे वन विभाग के कर्मचारी , ग्रामीणों ने लगाए लापरवाही के आरोप

बाद में मौके पर पहुंचे वन विभाग के गार्ड व ग्रामीणों ने घायल मादा हिरण को ईलाज के लिए अलीगढ़ वन विभाग पंहुचाया

अलीगढ़, (शिवराज मीना)। उनियारा उपखंड क्षेत्र के सोप उप तहसील मुख्यालय क्षेत्र में लगातार वन्य जीवों पर हमले हो रहे हैं। वन विभाग द्वारा वन्य जीवों के संरक्षण के लिए किसी भी प्रकार के उपाय न करने पर ग्रामीणों में भारी रोष है।
ग्रामीणों का आरोप है कि वन्य जीवों पर हमला होने पर वन विभाग के अधिकारियों को सूचना देने पर भी समय से घटना स्थल पर नहीं पंहुचते है। वन विभाग के कर्मचारियों के बिना चिकित्सक भी घायल वन्य जीवों का इलाज नहीं करते हैं।

गुरुवार सुबह सोप कस्बा क्षेत्र में आवारा कुत्तों ने एक मादा हिरणी पर हमला कर घायल कर दिया। ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी, लेकिन उसके बाद भी वन विभाग के कर्मचारी समय से मौके पर नहीं पहुंचे। इसके बाद वन्य जीव प्रेमियों ने अपने स्तर पर ही हिरण को दवा लगाई।

 

बाद में काफी समय बाद वन विभाग का गार्ड गिर्राज मीणा मौके पर पहुंचा और उसने ग्रामीणों की मदद से मोटरसाइकिल पर घायल हिरण को अलीगढ़ वन विभाग के कार्यालय पहुंचाया।

ग्रामीण कालू तेली , घासी तेली , बाबू मीना , कालू गोस्वामी , महावीर आदि ने बताया कि सुबह सात बजे के करीब चार-पांच आवारा कुत्तों ने एक मादा हिरण को अपने चंगुल में लेकर नोच दिया। ग्रामीणों को पता चलने पर कुत्तों से हिरण को बचाकर इसकी सूचना वन विभाग को दी। लेकिन वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी करीब डेढ घंटे के इंतजार के बाद भी मौके पर नहीं पहुंचे। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि वन विभाग सूचना के बाद भी मौके पर नहीं पहुंचता। वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए किसी प्रकार के प्रबंधन नहीं किये जा रहे है। इस कारण से वन्य जीव क्षेत्र में आवारा कुत्तों की संख्या लगातार बढ़ने से शिकार हो रहे है। लोगों ने बताया के क्षेत्र में हिरण को बचाकर रखा हुआ है। लेकिन अब हिरणों को आवारा कुत्तों के हमलों से बचाना दूर हो गया है।

सुबह के समय अधिक शिकार वन्य जीवों पर आवारा कुत्तों के हमले से हो रहे है। इस समय प्रतिदिन आवारा कुत्ते हिरणों को अपना शिकार बना लेते हैं। कई बार तो आवारा कुत्तों द्वारा वन्य जीवों को नोचने की सूचना नहीं मिलती। वहीं गत दिनों भी मण्डावरा पंचायत के अलीपुरा भगवानपुरा गांव में आवारा कुत्तों ने हिरण को नोच कर घायल कर दिया था, जिससे बाद में मौके पर ही उसकी मौत हो गई थी। इसी तरह के पिछले महीने भी कई बार वन्य जीवों पर आवारा कुत्तों के हमले हो रहे है।

इनका कहना है

इधर गुरुवार को सोप में मादा हिरणी पर आवारा कुत्त़ो के हमले के मामले में वन विभाग के रेंजर शंकरसिंह रावत का कहना है कि सूचना मिलने पर गार्ड गिर्राज मीना को मौके पर भिजवा दिया था। गार्ड ने ही मौके पर जाकर घायल मादा हिरण का पशु चिकित्सक दिनेश चौधरी से इलाज करवाया। उसके बाद हिरण को अलीगढ़ स्थित वन विभाग कार्यालय लाया गया। घायल हिरणी उपचार के बाद ठीक है। उन्होंने कहा कि वन्य जीवों को बचाने के लिए हम हमेशा प्रयासरत है।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *