टोंक

वाहन चोरो के अन्र्तराज्यीय गिरोह का खुलासा

मास्टर माईण्ड सहित दो बाईक चोर गिरफ्तार

 

निशानदेही पर चोरी की 10 बाईक बरामद

टोंक (एस.एन.चावला)। कोतवाली थाना पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के अन्र्तराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश कर दो शातिर चोरो को गिरप्तार कर उनके कब्जे से चोरी की दा मोटरसाईकिले बरामद की है। गत दिनो चोरी की बढी वारदातो के चलते पुलिस अधीक्षक टोंक योगेश दाधीच के निर्देश पर अवनीश कुमार शर्मा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक टोंक के निर्देशन में व संजय शर्मा वृताधिकारी टोंक के नेतृत्व में थानाधिकारी कोतवाली बीएल मीना, जगदीश एएसआई, शंकर लाल एचसी, रामप्रसाद, मन्जूर, चन्द्रप्रकाश, राकेश कानि. की एक विशेष टीम गठित की गई।

 

गुरूवार को एएसपी अवनीश कुमार शर्मा ने मिडीया को बताया कि टोंक शहर में बढ़ती चोरी की वारदातो पर अंकुश लगाने एंव अपराधियों की धरपकड़ करने कि लिये टीम ने सादा वस्त्रों में रहकर सआदत अस्पताल एवं जनाना अस्पताल पर निगरानी रखी गई पुराने चालान शुदा लोगों से पूछताछ की। इसी दोरान पता चला 2 जून 2018 को घण्टाघर के आईसीआईसीआई बैंक के सामने से बाईक चोरी हुई है। उसमें एक अपराधी जो मोबाईल पर बात करते करते बाईक उड़ा ले गया।

 

उक्त अपराधी के सीसीटीवी फुटेज के बारे में तलाश की तो पता चला कि मालपुरा के कुछ लडंके टोंक में बाईक चोरी करते है। इस इत्तला पर एक शातीर नाबालिक बच्चे से चोरी की बाईक बरामद की तथा उसको बाल सुधार गृह भेज दिया गया। अनुसंधान से पता चला कि इनके 3-4 साथी रोड़वेज में सवार होकर टोक आते है तथा यहां से बाईक उठाकर ले जाते है। 27 जून 2018 को मुखबीर से सूचना मिली की 2 शख्स चोरी की बाईक के साथ बहीर की तरफ से आ रहे है। जिनको जनाना अस्पताल के पास पुलिस ने सादा वस्त्रों में जाप्ता लगाकर घेरा बन्दी करके जनाना अस्पताल से गत दिनों चोरी हुई बाईक के साथ धर दबोचा जिसको पकडक़र पूछताछ की तो किसी ओर से बाईक खरीदना बताया किन्तु पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो टोंक एवं जयपुर से कई दर्जनों मोटरसाईकिल चोरी करना बताया। दोनों आरोपी आशीष गुर्जर पुत्र नोरतराम जाति गुर्जर उम्र 20 साल निवासी ट्रक स्टेण्ड मालपुरा थाना मालपुरा जिला टोंक व नवेद पुत्र नवाब जाति मुसलमान उम्र 20 वर्ष निवासी कसाईयों की मस्जिद के सामने टोड़ा रोड़ मालपुरा थाना मालपुरा जिला टोंक के रहने वाले है तथा दोनों कभी जयपुर एवं कभी टोंक से बाईक चोरी कर बैच देते है।

 

तथा नही बिकने पर सामान बदल कर दूसरी गाडिय़ों में लगा देते है व शैष बचे हुये सामान को कबाडिय़ों को बेच देते है। गिरोह ने अब तक 3 दर्जन से अधिक बाईक चोरी की वारदाते करना बताया है। आशीष एवं नवेद की इत्तला पर थाना कोतवाली की विशेष पुलिस टीम ने मालपुरा कस्बे में दबिश देकर जयपुर एव टोंक से चोरी की 10 मोटरसाईकिले बरामद की है।

 

जिनमें एक मोटरसाईकिल आगरा उत्तरप्रदेश से चोरी की है गिरोह ने मोटरसाईकिलों को जयपुर एव मालपुरा में बैची है तथा कुछ कबाडिय़ों को कटवाई है। इस सम्बन्ध में भी अनुसंधान किया जा रहा है। गिरोह में आधा दर्जन आरोपी शामिल है जिनमें तीन को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया जा चुका है। अन्य की तलाश की जा रही है। जो घरों से फरार चल रहे है। शर्मा ने बताया कि गिरोह का सरगना आशीष गुर्जर है जो पलक झपकते ही गाड़ी का लाँक तोडक़र गाड़ी उड़ा लेता है। तथा जाते ही अपने साथी नवेद एवं अन्य लोगों को 5 से 15 हजार रुपये में बैच देता है तथा नही बिकने पर छुपा देता है। गिरोह से ओर भी वारदात खुलने की संभावना है तथा कुछ ओर बाईक बरामद होने की संभावना है। दोनों को आज न्यायालय में पेश कर 5 दिन के पीसी रिमाण्ड पर लिया गया।

ऐशो आराम के लिय करते थे चोरी-

अति. पुलिस अधीक्षक ने बताया किआशीष गुर्जर नशे एवं अय्यासी का आदी है। तथा वह मालपुरा में कुछ लडक़ों के साथ मिलकर एक गैंग बनाई एवं सुबह रोड़वेज बस में बैठकर टोंक आते है। पुलिस एवं बाईक खड़ी करने वाले पर नजर रखते है मौका मिलते ही लाँक तोडक़र बाईक चोरी कर फरार हो जाते है। तथा 5 से 15 हजार रुपये में बाईक को बेच देते है। जो बाईक नही बिकती उसका सामान दूसरी गाड़ी में लगा देते है। तथा शेष माल कबाडी को ओने पोने दामो में बेच देते है।

 

गिरोह के लोगों से पूछताछ पर पता चला है कि तीन दर्जन वारदात टोंक एवं जयपुर के सांगानेर, प्रतापनगर, सिन्धी कैम्प, साँगानेर सदर, सदर रेल्वे स्टेशन, करधनी, झोटवाड़ा, टाँर्सपोर्टनगर, आदर्शनगर आदि थाना क्षैत्र में वारदात को अंजाम दिया है। अब तक जयपुर एवं टोंक से चोरी की कुल 10 बाईक गिरोह कि निशादेही से बरामद की जा चुकी है। एएसपी ने बताया कि २ जून २०१८ आईसीआईसीआई बैंक के सामने से आरोपी आशीष व नवेद ने बाईक चोरी की थी तथा साथ में एक बाल अपचारी को साथ में किया तथा उसको बाईक देकर बैचने की जिम्मेदारी दी । जिसको पुलिस ने पूर्व में ही मुखबीर की सूचना पर दस्तयाब कर निरुद्ध कर बाईक बरामद कर बाल सुधार गृह भेजा जा चुका है। गोपनीय सूचना मिली है की सआदत अस्पताल एवं जनाना अस्पताल में काम करने वालो के अलावा पार्किंग में लगे लडक़ों पर भी सन्देह है।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *