टोंक में बाजरा-ज्वार उत्पादन के लिए प्रौत्साहन दिया जाये: राजीव सिंघल

टोंक । टोंक चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष राजीव सिंघल ने   राजस्थान सरकार से आग्रह किया है कि टोंक  में बाजरा और ज्वार का उत्पादन व उत्पादकता बढ़ाने के लिए प्रौत्साहन दिया जाये।  उन्होंने कहा की  विगत एक दशक  के दौरान टोंक  में बाजरे का उत्पादन कमोबेष स्थिर सा है और ज्वार के उत्पादन में भी अधिक बढ़ोतरी नहीं हुई है, जबकि गेहूं का उत्पादन अच्छे से बढ़ा है।

राजीव सिंघल ने  ने कहा कि  यह वर्ष मिलेट इयर अर्थात मोटा अनाज वर्ष के तौर पर मनाया जा रहा है। बाजरा और ज्वार मोटे अनाज के रूप में स्थापित हैं, अतः इनका उत्पादन व उत्पादकता दोनों में व्यापक सुधार की जरूरत है। 

टोंक चैम्बर्स  की तरफ से सुझाया गया है कि टोंक  में बाजरा और ज्वर के  उत्पादन का लक्ष्य अधिक से  अधिक निर्धारित किया जाये और इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए कृषि विभाग टोंक जिले  की सभी  पंचायत समिति क्षेत्र की  ग्राम पंचायतों में बाकायदा प्रौत्साहन अभियान चलाये। बाजरा व ज्वार उत्पादक किसानों को 500 रूपये प्रति टन का उत्पादन बोनस देना सुनिश्चित  किया जाये, ताकि किसान इन दोनों उत्पादों का उत्पादन करने के लिए प्रेरित हो सके।