भेजा खराब मत करो, आएगी जब आएगी

पीपलू।  बिजली गुल होने की जानकारी करने पर जयपुर विद्युत वितरण निगम पीपलू कनिष्ट अभियंता ने संतोषप्रद जानकारी देने के बजाय कहा कि मेरा भेजा खराब मत करो।

मामला यह है कि पीपलू में सुबह भी घंटों बिजली गुल रही। वहीं दिनभर आंख मिचौली के बाद शाम 5 बजे से 8 बजे तक बिजली गुल रही तो उपभोक्ताओं ने उसे बिजली गुल होने का कारण पूछा तो अभियंता ने संतोषप्रद जवाब देने के बजाय जवाब दिया कि उनका भेजा खराब नहीं करे। उपभोक्ताओं ने इस मामले की शिकायत जिला कलक्टर को करते हुए अभियंता के विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही किए जाने की मांग की है।
गौरतलब होगा कि विद्युत विभाग के उच्चाधिकारियों की शह पर अभियंता के हौसले इतने बुलंद है कि क्षेत्र के उपभोक्ता उसके रवैए से खासा परेशान है। गत दिनों कठमाणा में भी ट्रांसफार्मर खराब होने पर उसे फोन किया गया तो उसने ट्रांसफार्मर खोल लाने को कह दिया। विभाग ने उसके खिलाफ आवश्यक कार्यवाही करने की बजाय लाइनमेन को सस्पेंड कर मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया है।
इनका कहना है
पीपलू क्षेत्र में तकनीकी खामियों के चलते सुबह 5 घंटे तथा शाम को 4 घंटे बिजली बंद होना कस्बे के लाइनमेन ने बताया है। कनिष्ट अभियंता ने उपभोक्ताओं के साथ अभद्रता से जवाब दिया है तो उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। आरडी मीणा, सहायक अभियंता जयपुर विद्युत वितरण निगम टोंक