डम्पर मकान से टकराया बाल बाल बचें ,ग्रामीणों ने जाम लगाया

पीपलू (ओपी शर्मा)। बनास नदी से अवैध रूप से बजरी खनन थम नहीं रहा। जिला प्रशासन चाहे कितने ही दावे करें,लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। बजरी माफिया और पुलिस के बीच कथित मिलीभगत भी इनकार नहीं किया जा सकता। बजरी परिवहन के दौरान अब तक कई लोगों की हादसे में मौत हो चुकी …

डम्पर मकान से टकराया बाल बाल बचें ,ग्रामीणों ने जाम लगाया Read More »

February 15, 2021 2:08 pm

पीपलू (ओपी शर्मा)। बनास नदी से अवैध रूप से बजरी खनन थम नहीं रहा। जिला प्रशासन चाहे कितने ही दावे करें,लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। बजरी माफिया और पुलिस के बीच कथित मिलीभगत भी इनकार नहीं किया जा सकता। बजरी परिवहन के दौरान अब तक कई लोगों की हादसे में मौत हो चुकी है। वही रविवार रात्रि बरोनी थाना क्षेत्र के ग्राम देवली मे बजरी भरने जा रहे डम्पर ने रामलाल पुत्र सूरज जाट निवासी देवली के मकान से टक्करा गया जिससे मकान क्षतिग्रस्त हो गया व मकान मे खडा़ टे्क्टर चकनाचूर हो गया। गनिमत यह रही की मौके पर कोई मोजूद नही होने से जनहानी नहीं हुई। वही ग्रामीणों ने सोमवार सुबह जाम लगाकर बरोनी थाना अधिकारी कैलाश विश्नोई व तहसीलदार रामलाल मीणा मौके पर पहुचें व कार्रवाही की बात कही । उसके बाद ग्रामीणों ने जाम हटाया। लोगों का कहना रहा कि सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद बरोनी थाने के देवली भांची,मन्डावर,सराई,सोहेला,
ककराज कला, जेबाडिया आदि गांवो में बजरी का बड़े पैमाने पर अवैध खनन एवं परिवहन किया जा रहा है।

बजरी परिवहन में लगे डम्पर एवं टै्रक्टर चालक पुलिस से बचने के लिए तेज गति से वाहन चलाते है। वाहनों की तेज गति के कारण अब तक कई हादसे हो चुके हैं, लेकिन स्थानीय प्रशासन ने आज दिन तक बजरी परिवहन के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई नहीं की।

सरकारी तंत्र नाकाम,बजरी माफिया हावी

सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद इलाके में बड़े पैमाने पर चल रहा बजरी का अवैध खनन व परिवहन अब जानलेवा बनता जा रहा है। एेसे मे साफ है कि बजरी पर रोकथाम के मामले में सरकारी तंत्र पूरी तरह फैल साबित हो रहा है। गांव हो या शहर सभी जगह बजरी के ढेर पड़े नजर आ रहे हैं, लेकिन खनन विभाग को यह नजर नही आ रहे। बजरी कारोबार पर प्रभावी रोक लगाने के लिए उपखण्ड प्रशासन ने एसआईटी का गठन भी कर रखा है, लेकिन आज तक एसआईटी ने भी कोई ठोस कार्रवाई नहीं की है।

गौरतलब है कि इलाके में बहने वाली बनास, मांसी नदी अवैध बजरी कारोबार का बड़ा केन्द्र है। यहां से बजरी भरकर सैकड़ों ट्रक, टै्रक्टर व डम्पर विभिन्न रास्तों से होकर गुजरते हैं। इसके बावजूद कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं होती। इससे बजरी माफियाआें के हौसले बुलंद है।

Prev Post

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी कोरोना पॉजिटिव, कल मंच पर चक्कर आने से हुए थे बेहोश

Next Post

मलाइका अरोड़ा और अर्जुन कपूर ने साथ में सेलिब्रेट किया वैलेंटाइन  डे 

Related Post

Latest News

पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप, परिवादी को ही कर रही है परेशान 
टोंक के बनेठा थाने का एसआई 10 हज़ार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, एक प्रकरण में कार्रवाई नही करने की एवज में मांग रहा था घूस
Rural Olympic Games - Innovative brilliant initiative of Bhilwara Collector Modi

Trending News

राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान
प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 

Top News

राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप, परिवादी को ही कर रही है परेशान 
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान
टोंक के बनेठा थाने का एसआई 10 हज़ार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, एक प्रकरण में कार्रवाई नही करने की एवज में मांग रहा था घूस
REET - 2022 का परीक्षा परिणाम घोषित 
राजस्थान में रहेगा गहलोत का ही राज, सचिन.. 
Rural Olympic Games - Innovative brilliant initiative of Bhilwara Collector Modi
राजस्थान में PFI पर शिकंजा कसने के कलेक्टर व एस पी को दिए अधिकार, पदाधिकारी भूमिगत
गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज