गुटबाजी के चलते अपने ही नेताओं के नाम मिटाने में लगे है भाजपा नेता

निर्माण के नाम पर हटा दी अपने ही नेताओं के नाम की अनावरण पट्टिका

भाजपा के दूसरे खेमे में नाराजगी

टोंक,(फ़िरोज़ उस्मानी)। टोंक भाजपा नेताओं की गुटबाज़ी और आपसी खिंचातानी किसी से छिपी नही है। इसके नमूने कई बार खुलेआम देखने को मिलते है। ऐसा ही एक मामला और देखने को मिल रहा है, अपने ही पार्टी नेताओं के नाम की अनावरण पट्टिका भाजपा के ही विधायक के इशारों पर निर्माण के नाम पर हटा दी गई है। इसको लेकर कई भाजपा नेताओं में नाराज़गी है।

घंटाघर चोराहे स्थित निर्वाचन कार्यालय भवन का नए तरीके से निर्माण किया गया है। पहले यहाँ सेलटैक्स और निर्वाचन कार्यालय पुराने भवन में चलता था।

अपने ही नेताओं की हटाई पट्टिका
जहाँ लगभग 1994/95 की पूर्व चिकित्सा व सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री ललित किशोर चतुर्वेदी, पूर्व मुख्य सचेतक राजस्थान सरकार महावीर प्रसाद जैन व पूर्व नगर परिषद चैयरमेन गणेश माहुर सहित कई भाजपा नेताओं के नाम की अनावरण पट्टिका भी लगी हुई थी।हॉल ही में भवन को नया रूप देने के लिए इसके चारों और बाउंड्री कर दी गई है। इसमें इस पट्टिका को भी हटा दिया गया है। सूत्रों के अनुसार ये पूरा कार्य टोंक विधायक अजीत सिंह मेहता की अगुवाई में हुआ है। इसको लेकर एक खेमे में काफी रोष व्याप्त है।