टोंक

बंदरों के आतंक से लोग परेशान

पीपलू (ओपी शर्मा)। उपखंड क्षेत्र के ग्राम सोहेला में इन दिनों बंदरों के आतंक से लोग परेशान हैं। जानकारी अनुसार एक झुंड में बंदरों की संख्या लगभग 15 तक है। बंदर झुंड के साथ लोगों के घरों में घुसकर घर में बना खाना और आनाज तक खा जाते हैं। इतना ही नहीं खाना खाने के बाद लोगों के घर का सामान भी तोड़फोड़ कर देते हैं। ग्रामीण बृजमोहन गोयल, ओमप्रकाश शर्मा, गणेश, बद्री, पवन शर्मा, बंशी बैरवा, जगदीश जाट, सत्यनारायण शर्मा आदि ने बताया कि गुरुवार को भी बन्दर ने एक छोटे बच्चे पर हमला कर दिया जिससे व घायल हो गया।

 

आये दिन बंदर के झुंड बैखोफ होकर घरों में घुसते हैं और घर में रखे सामान को क्षतिग्रस्त कर देते हैं। लोगों ने बताया कि अगर कोई बंदर को भगाने जाता है उस पर हमला कर घायल कर देता है। बताया कि बंदर खेत में लगी फसल और सब्जियों को भी नुकसान पहुंचाता है। लोगों ने बताया कि अचानक क्षेत्र में इतने बंदर आ जाने से लोग भी आश्चर्य में हैं। पंचायत प्रशासन व ग्रामीणों ने टोंक जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर बन्दरों को अन्यत्र जगलं मे छोडऩे की मांग की है ।

Firoz Usmani
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।